पुणे में भीमा-नीरा नदी जोड़ परियोजना में क्रेन गिरने से 8 मजदूरों कि मौत

पुणे में इंदापूर तालुका के अकोले में भीमा-नीरा नदी जोड़ परियोजना में क्रेन सुरंग में गिरने से 8 मजदूरों कि मौत. सोमवार इंदापूर तालुका के अकोल (जिले पुणे) में नीरा-भीमा परियोजना के अंतर्गत तावशी से दाळज के बीच 150 मीटर ऊँची सुरंग का काम चल रहा था इसी शाम, लगभग 6 बजे के क़रीब सुरंग में काम पूरा करके मज़दूर क्रेन से बाहर आ रहे थे. जब क्रेन आधे रास्ते तक पहुंच गया तभी क्रेन का रोप टूट गया और श्रमिक 150 फिट की गहरी सुरंग में गिर गए, इस मौके पर 8 लोगों की मौत हो गई वो दूसरे राज्य जैसे उत्तर प्रदेश, ओडिशा और आंध्र प्रदेश के मजदूर थे.

The death of the laborers

फायर ब्रिगेड, पुलिस और एम्बुलेंस तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे फायर ब्रिगेड कर्मियों ने बचाव अभियान शुरू कर दिया है, एक संभावना है कि हादसे में कुछ और मजदूरों के दबे होने कि आशंका हे इस वजह से मौत का भय आगे बढ़ सकता है ऐसी आशंका व्यक्त कि जा रही है.

The death of the laborers

केंद्र सरकार का एक महत्वाकांक्षी परियोजना के तहत तावशी से दाळज तक 24 किलोमीटर में छह चरणों में प्रगति पर है, नदी जोड़ परियोजना की सुरंग उजिनी बांध तक सुरंग द्वारा शुरू की गई है, सुरंग की खुदाई लगभग तीन किलोमीटर की दूरी पर शाफ्ट से खोदने और सुरंग के अंदर मशीन की सहायता से खुदाई करने से जमीन से लगभग 150 फीट की खुदाई के बाद शुरू हुई है, इस उद्देश्य के लिए तीन सौ मजदूर काम कर रहे हैं और इसमें जेसीबी मशीनों, कार्गो हैंडलिंग वाहनों की मदद से काम किया जा रहा है.

इस कार्य को 2012 में कार्य शुरू किया गया था इस नदी परियोजना के कारण, भीमा और नीरा का पानी मराठवाड़ा को दिया जाएगा हालांकि, सरकार के पास कोई निधि नहीं होने के कारण, कार्य दो साल तक रोका गया था इस नीरा भीमा नदी जोड़ परियोजना का मुख्य उद्देश्य नीरा नदी से उजिनी बांध का पानी उस्मानाबाद, सोलापुर और पुणे के किसानों को
इस पानी का इस्तेमाल होगा.

[स्रोत- धनवंत मस्तुद]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here