कुम्भाराम नहर संघर्ष समिति की तारानगर में सभा आयोजित की गई हुई

आज तारानगर में कुम्भाराम नहर संघर्ष समिति द्वारा करीब 622 से दिन चल रहे धरना स्थल पर पूरी तहसील के संघर्ष समिति के कार्यकर्ताओं की सभा हुई। जिसमे किसान नेता हरिसिंह बेनीवाल ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि धरने को आज दो साल से ज्यादा हो चुके है। और इस नहर के कार्य को पूर्ण करवाने के लिए ही मास्टर अर्जुनराम धेतरवाल ने इस धरने पर ही अपने प्राण त्याग दिए। और सरकार आज भी अपनी नीति अपनाये हुये है और किसी प्रकार कोई ध्यान नही दिया जा रहा है।

Struggle committee

यहा हम आपको बता दे की स्वर्गीय अर्जुन राम धेतरवाल ने इस नहर के कार्य को पृर्ण करवाने के लिए लगातार धरने पर दिन रात बैठे रहते थे, और कुछ समय पहले ही धरने के दौरान उनकी अचानक तबियत खराब हुई और वो पूण्य आत्मा स्वर्ग को सिधार गई। वो एक सेवनिवर्त अघ्यापक थे, और अपनी पूरी पेंशन इस नेक कार्य में लगा देते थे।

सभा के दौरान निर्णय लिया गया कि पूरे तारानगर विधानसभा क्षेत्र में शहीद अर्जुन धेतरवाल की अस्थियों को लेकर,एक जागरूक डॉक्यूमेंट्री सहित गांव गांव व ढाणी ढाणी पहुंचकर लोगों को व युवाओं को जागरूक करने का अभियान चलाकर फिर पूरी तहसील के लोगों के साथ विशाल शहीदी जुलूस के साथ शहिद अर्जुन धेतरवाल की अस्थियों को नहर में विसर्जित किया जायेगा औऱ जब तक न्याय ना मिले हक की लड़ाई जारी रहेगी और धरना चालू रहेगा।

Struggle committee

इस दौरान समिति के प्रदेशाध्यक्ष कृष्ण सहारण ने भी विचार व्यक्त किये और अर्जुन जी धेतरवाल को याद किया और कहा कि हम उनके द्वारा शुरू किये गए इस कार्य को पूरा करेंगे, गुरु जी का सपना था ये नहर हर हालत में पूरी करवाएंगे। और अब लोगो के लिए उनके इस सपने को पूरा करवाकर ही उन्हें श्रदांजलि दी जा सकती है, और गुरूजी ने हमेशा किसानों के लिए सघर्ष किया है वो सघर्ष हमेशा जारी रहेगा।

इस दौरान सभा मे रामकुमार फान्डर, रामस्वरूप झाझड़िया, रामनिवास खीचड़, रामकुमार फ़ौजी, भोजराज महला, चुन्नीलाल सहारण, लीलाधर नेण व अनेक किसान मौजूद रहे।

[स्रोत- विनोद रुलानिया]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here