सैनी समाज कर्मचारी एवं अधिकारी सेवा संस्थान चूरू का वार्षिक प्रतिभा सम्मान समारोह

3 जनवरी 2018 सैनी समाज कर्मचारी एवं अधिकारी सेवा संस्थान चुरू का वार्षिक प्रतिभा सम्मान समारोह हनुमान बगीची में आयोजित किया गया । कार्यक्रम की अध्यक्षता पन्ना लाल तंवर सेवानिवृत्त लेखा अधिकारी, मुख्य अतिथि सीनियर आईएएस ओपी सैनी, विशिष्ट अतिथि अतिरिक्त मुख्य न्यायधीश गंगानगर धनपत माली, शिव भगवान सैनी, अनुभव चंदेल, मधुसूदन सैनी, रामअवतार सैनी, ओमप्रकाश सैनी, परमेश्वर लाल सैनी, नरेंद्र जमालपुरिया, जगदीश प्रसाद तंवर,करणी सिंह गहलोत, कन्हैया लाल, पूर्व चेयरमैन सत्यनारायण सैनी, संतरा देवी, जयभगवान सैनी राजगढ़ थे।

Churu's annual talent award ceremony

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीनियर आईएएस- ओपी सैनी ने कहा कि शिक्षा के बिना कोई भी काम करना आसान नहीं है आने वाली पीढ़ी को लक्ष्य बना कर आगे बढ़ना है। धनपत माली ने कहा सकारात्मक सोच के साथ लक्ष्य बनाकर शिक्षा पर ध्यान केंद्रित कर आगे बढ़ना है। ओंकारमल बालन ने वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।

इसी क्रम में फुले ब्रिगेड सीकर के जिला सलाहकार एवं वालीबॉल एसोसिएशन के जिला उपाध्यक्ष राघव पंवार ने कहा कि समाज के निचले तबके को साथ लेकर चलना होगा, दबी हुई प्रतिभाओं को निखारना होगा, कमजोर वर्ग को अपने साथ लेकर चलना होगा और समाज की अच्छाइयों के साथ कुरीतियों पर विचार विमर्श कर उन्हें दूर करने का प्रयास करते हुए एकता की भावना से कोई कार्य करना होगा तभी समाज आगे बढ़ सकता है।

पंवार ने कन्या भ्रूण हत्या पर संगीतमय प्रस्तुति भी दी, जिसे लोगों ने मंत्रमुग्ध होकर सुना। उद्बोधन समाप्ति पर लोगों ने जोरदार तालियों की गड़गड़ाहट से उनका स्वागत किया। चानण मल रकसिया ने हनुमान बगीची संस्था में कोचिंग ले रहे विद्यार्थियों के बारे में जानकारी दी व कोचिंग की गतिविधियों की जानकारी दी। कार्यक्रम में सैनी समाज के तारानगर, राजगढ़, सरदारशहर रतनगढ, सुजानगढ़, सहित रतननगर, रायपुरिया, खंडवा व आस-पास के गांव से समाज बंधु आए।

इस दौरान राधेश्याम राकसिया,भीकाराम सैनी, दारजी, नारायण प्रसाद गौड़, अनिल बालन, भंवरलाल गौड़, गणेशा राम तंवर,चंद्रमोहन तंवर, चंदनमल राकसिया, सांवरमल इंदौरिया, शंकरलाल बालान, सांवरमल बालान,परमेश्वर लाल तवर, रतन लाल सांखला, विनोद पापटाण, लोकेश कुमार, माया सैनी सहित समाज की संस्थाओं के कई पदाधिकारी उपस्थित थे।

[स्रोत- धर्मी चन्द जाट]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here