अरुण जेटली और नरेंद्र मोदी ने की भारत की अर्थव्यवस्था उथल-पुथल: यशवंत सिन्हा

बीजेपी के पूर्व वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने अरुण जेटली और नरेंद्र मोदी को भारत की अर्थव्यवस्था ख़राब करने का जिम्मेदार ठहराते हुए इंडियन एक्सप्रेस पर अपना एक लेख प्रकाशित किया है. इंडियन एक्सप्रेस पर प्रकाशित उनके लेखक का नाम ‘I need to speak up now’ है. लेख के शीर्षक ‘अब मेरे बोलने की जरूरत है’ देखने से ही पता चलता है कि भारत की अर्थव्यवस्था को लेकर या भारत की चल रही स्थितियों के बारे में यशवंत सिन्हा ने बहुत कुछ लिखा है.Yashwant Sinhaयशवंत सिन्हा बीजेपी के वरिष्ठ नेता रहने के साथ-साथ एक रिटायर्ड आईएएस अधिकारी भी हैं. यशवंत सिन्हा ने 1990 से 1991 में भारत के आठवें प्रधानमंत्री चंद्रशेखर सिंह के कार्यकाल में भारत के वित्त मंत्री का कार्यभार भी संभाला है. जिन्होंने आज सुबह इंडियन एक्सप्रेस पर अपना एक लेख प्रकाशित किया जिसमें उन्होंने भारत की अर्थव्यवस्था को लेकर अरुण जेटली पर कड़े वार किए.

[ये भी पढ़ें: अखिलेश के फैसलों से नाराज हूं, मगर नहीं बना रहा नई पार्टी: मुलायम सिंह यादव]

उन्होंने अपने लेख को शुरू करते ही कहां है कि “मैं अपने राष्ट्रीय कर्तव्यों का पालन करने में असमर्थ रहूंगा अगर मैं इस समय वित्त मंत्री के खिलाफ नहीं बोलता हूं. मुझे यह भी पता है जो मैं कहना चाहता हूं वह बीजेपी नेताओं और अन्य को भी मालूम है मगर वह सब डर के कारण नहीं बोल रहे हैं”. यशवंत सिन्हा ने अपने इस लेख में बीजेपी और अरुण जेटली की काफी खिंचाई की जिसमें उन्होंने भारत की गड़बड़ती अर्थव्यवस्था का सारा जिम्मा अरुण जेटली के सर थोड़ा.

[ये भी पढ़ें: PM मोदी के दिल में गरीबो और कमजोर के लिए कोई जगह नहीं: राहुल गाँधी]

यशवंत सिन्हा के इस लेख के प्रकाशित होने के बाद बीजेपी के समस्त अधिकारियों में और मीडिया में हलचल मची हुई है. विपक्ष पार्टी यशवंत सिन्हा के इस लेख को मुद्दा बनाकर बीजेपी पर कड़ा प्रहार कर रही है शायद विपक्ष पार्ट की किसी ऐसे ही मौके की तलाश में थी जो यशवंत सिन्हा के लेख से मिल गया.

विपक्षी पार्टियां अपने अपने ट्विटर हैंडल से बीजेपी पर निशाना साध रही है और नोटबंदी व जीएसटी जैसे फैसलों को एक गलत फैसला बताकर बीजेपी पर आक्रामक हो रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here