राष्ट्रीय जूडो प्रतियोगिता से लौटा बाड़मेर का गणपत

63वी राष्ट्रीय स्तर विद्यालय जूडो खेलकूद प्रतियोगिता सब जूनियर (14वर्ष) दिल्ली में राजस्थान राज्य दल से गणपत बाड़मेर 30 किलोग्राम वजन में राज्य का प्रतिनिधित्व करते हुए बाडमेर के जूडो की पहचान को कायम रखते हुए पहले मुकाबले में पंजाब को परास्त किया ।

Barmer Ganpat returned from the National Judo Competition

अगले राउण्ड में कर्नाटक से कङा संघर्ष कर सराहनीय प्रदर्शन किया । गणपत ने राज्य स्तर पर रजत पदक को बदलकर ट्रायल में राष्ट्रीय स्तर के लिए अपना चयन करवाकर अपने मनोबल का अहसास कराया ।गणपत गरल ग्राम पंचायत के न्यू बाल विद्या मंदिर उ प्रा वि में अध्ययनरत है ।

मालाणी एक्सप्रेस से बाड़मेर लौटने पर रेल्वे स्टेशन पर जूडो विकास समिति छोटू के भामाशाह उदाराम गोदारा छोटू, चिमाराम घाट प्रधानाध्यापक अर्जुन की ढाणी ने माल्यार्पण के साथ मुंह मीठाकर स्वागत किया । हौसला बढ़ाने के लिए गणपत को नकद राशि भी दी गई । गणपत के पिता श्री बालाराम जी व विद्यालय प्रबंधक श्री ईश्वरजी भादू का भी माल्यार्पण कर बहुमान किया ।

हमें गर्व है किसान एवम् ग्रामीण प्रतिभाओं पर जो बिना संसाधन के विषम परिस्थतियों में भी निरन्तर निखार ला रहे है । पिछले सात साल से बाड़मेर सब जूनियर वर्ग जूडो प्रतियोगिता में बाडमेर के दलनायक रहे चिमाराम घाट का कहना है कि 14वर्ष जूडो प्रतिभाएं ही बाड़मेर जूडो का आधार स्तम्भ है।

अभिभावक, भामाशाह, पूर्व राष्ट्रीय खिलाङी व ‘सीएनई न्यूज़ नेटवर्क छोटू व चीफ रिपोर्टर’ एवम् प्रशिक्षक हमेशा समर्पित होकर सहयोग करते आए है।जिसकी बदौलत आज बाड़मेर जूडो की धाक पूरे देश में जम चुकी है ।

[स्रोत- नरीगा राम सारण]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here