गुजरात चुनाव में भाजपा ही जीतेगी क्योकि 100 कुत्ते मिलकर भी 1 शेर का शिकार नहीं कर सकते

गुजरात चुनाव को लेकर माहौल इतना गर्म हो चुका है कि पार्टियां एक दूसरे को चुनौती देने तथा नंगा करने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है. 4 नवंबर 2017 को हरियाणा के हेल्थ, स्पोर्ट्स तथा विज्ञान और तकनीक मंत्री अनिल विज ने एक विवादित बयान अपने ट्विटर हैंडल से सार्वजनिक किया जिसमें उन्होंने लिखा है कि “100 कुत्ते मिलकर भी एक शेर का शिकार नहीं कर सकते, गुजरात चुनाव में भाजपा ही जीतेगी”.Anil vijअनिल विज ने इस ट्वीट में जिस भाषा का उपयोग किया उस पर विवाद होना तय था. उनके इस ट्वीट के बाद ही Twitter पर समर्थकों की जंग छिड़ गई. जमकर लोगों ने अपनी अपनी प्रतिक्रिया दी. जिसमें समर्थकों ने अपनी अपनी पार्टी की बड़ाई तथा दूसरे की बुराई करने में भी कोई कसर नहीं छोड़ी यहां तक की नौबत इस पर आ गई कि समर्थक एक दूसरे को गाली देने पर उतारु हो गए.

इससे पहले भी अनिल विज ने 4 नवंबर को ही एक और ट्वीट किया जिसमें उन्होंने नोटबंदी की वर्षगांठ पर मातम मनाने वालों को कहा कि “नोटबंदी की वर्षगांठ का मातम वह लोग ही मनाएंगे जिनकी तिजोरी में रखा काला धन बैंकों में बदला नहीं जा सका”.

इसके बाद अनिल विज ने अपने इस ट्वीट के प्रतिउत्तर में एक और ट्वीट किया और कहा कि “मातम मनाने वाले ऐसा मातम हर वर्ष मनाएंगे”.

गुजरात में विधानसभा चुनाव 9 और 14 दिसंबर को 2 चरणों में होंगे पहले चरण के चुनाव के लिए नामांकन दाखिल 14 से 21 नवंबर तक होगा और 22 नवंबर को नामांकन की जांच होगी नतीजा 24 नवंबर तक प्रत्याशी अपना नाम वापस ले सकेंगे तथा दूसरे चरण के लिए नामांकन 27 नवंबर आखरी तारीख होगी जिसके लिए नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख 30 नवंबर तय की गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here