गुरमीत राम रहीम की गिरफ्तारी से फैली हिंसा, कर्फ्यू के माहौल में कैसे रखें अपने आप को सुरक्षित

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को पंचकुला की अदालत ने यौन उत्पीड़न के मामले में दोषी करार दिया है। राम रहीम की सजा 28 अगस्त को सुनाई जाएगी। राम रहीम के गिरफ्तार होते ही उनके समर्थकों ने दिल्ली, हरियाणा और पंजाब में जमकर तांडव किया। उपद्रव में 20 से ज्यादा लोगों के मारे जाने की खबर है और 200 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं, इन राज्यों के अलावा भी हिंसा की आग राजस्थान तथा उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों तक पहुंच गई है। कई इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया है, कई दिनों तक माहौल संवेदनशील बने रहने के आसार हैं, ऐसे में सावधानी बरतने की आवश्यकता है।Baba Gurmit Ram Rahim

संवेदनशील माहौल में इन बातों का रखें खास ख्याल

1-: हिंसा ग्रस्त इलाकों में न जाए-: जिन इलाकों में हिस्सा फैली है उन इलाकों में जाने से बचें। आप इस बात की जानकारी रखें कि किन इलाकों में हिंसा फैली है। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के कुछ इलाकों भी हिंसा की चपेट में है इसीलिए स्थिति की जानकारी बनाए रखें।

2-: घरों से ना निकलेंं-: जो लोग हिंसा ग्रस्त क्षेत्रों में रह रहे हैं वह कोशिश करें कि घर से बाहर ना निकले। जब तक माहौल शांत ना हो जाए घरों में ही रहेंं, खासतौर से बच्चे व महिलाएं घर में रहकर ही स्थिति पर नजर बनाए रखें। कई इलाकों में शांति बनाए रखने के लिए धारा 144 और कर्फ्यू लगा दिया गया है। धारा 144 के अंतर्गत नागरिकों की सुरक्षा के लिहाज से उन्हें घर से बाहर निकलने पर पाबंदी लगा दी जाती है। इस धारा के अंतर्गत लोगों के घूमने फिरने व एकत्रित होने पर भी रोक लगा दी जाती है।

[ये भी पढ़ें : गुरमीत राम रहीम सिंह की गिरफ़्तारी के बाद भड़की हिंसा]

3-: बहकावे में ना आएं-: जो लोग बहकावे में आकर हिंसा फैलाने में उपद्रवियों का साथ दे रहे हैं, वह किसी भी तरह के बहकावे से बचें, कानून को अपने हाथ में न लें। नियमों के दायरे में रहकर कार्य करें। न्याय व्यवस्था पर भरोसा बनाए रखें। किसी भी तरह से आपकी आस्था आहत हुई है तो उसके लिए न्यायालय का दरवाजा खटखटाएं, किसी के बहकावे में आकर हिंसा ना करें, आपको सजा भी हो सकती है।

[ये भी पढ़ें : यौन शोषण मामले में बाबा राम रहीम दोषी करार, 28 अगस्त को सुनाई जाएगी सजा]

4-: स्थिति पर नजर बनाए रखें-: पंजाब हरियाणा के कुछ क्षेत्रों में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है, जिससे लोग अफवाह ना फैलाएं और हिंसा ना फैलायें, ऐसे में आप न्यूज़ चैनल के जरिए स्थिति पर नजर बनाए रखेंं और जिन इलाकों में कर्फ्यू लगा हुआ है वह लोग खाने पीने की चीजे एकत्रित करके रख लें, जिससे बार-बार आपको बाजार जाने की आवश्यकता ना पड़े। मोबाइल इंटरनेट के द्वारा फैलाई जा रही है अफवाहों पर ध्यान ना दें।

5-: संवेदनशील व्यक्ति की सूचना प्रशासन को दें-: अगर आपके पास कोई भी व्यक्ति संवेदनशील स्थिति में पाया जाता है या किसी भी तरह की अफवाह फैलाते हुए पाया जाता है तो इसकी जानकारी तुरंत प्रशासन को दें, अपनी सुरक्षा का ध्यान रखते हुए प्रशासन को गुप्त रुप से सूचित करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here