राजगढ़ के कोर्ट परिसर में चली गोलियां

एक मिली जानकारी के अनुसार आज राजगढ़ (सादुलपुर) के मुंसिफ मजिस्ट्रेट न्यायालय में तारीख पेशी पर आए हार्डकोर अपराधी अजय जेतपुरा को जान से मारने की नियत से दर्जनों गोलियां चलाई गई है।

राजगढ़ के कोर्ट परिसर में चली गोलियां

अजय जेतपुरा के एक से ज्यादा गोलियां लगी है, जिसे एक गंभीर घायल अवस्था में अस्पताल ले जाया गया है। साथ ही गोली से एक वकील एवम अजय जेतपुरिया के दोस्त भी घायल बताए जा रहे है। इस हमले मे न्यायालय के पेशकार मोहर सिंह भी बाल बाल बचे हैं। गोली लगने वाले वकील का नाम रतन प्रजापत है, जो विद्युत निगम के कर्मचारी काशीराम प्रजापत के पुत्र हैं।

रतन प्रजापत के कंधे पर गोली नहीं बल्कि छर्रे लगे हैं, एवं उनकी हालत खतरे से बाहर है। उनको तत्काल निकटवर्ती रोहिल्ला नर्सिंग होम में लाया गया, प्राथमिक उपचार के बाद रतन को छुट्टी दे दी गई है । एवं आगामी जांच, उपचार आदि के लिए हिसार गए हैं। वह स्वयं चल कर अस्पताल से रवाना हुए बताए गए हैं।

अजय जैतपुरा व गोली से घायल उनके साथी को भी तत्काल रोहिल्ला नर्सिंग होम लाया गया था, जहा से अजय के सीने में तीन गोलियां लगी बताई गई है, जबकि उनके साथी के कमर में गोली लगी बताई है। अजय की स्थिति नाजूक थी, जिनको तुरन्त हिसार भिजवा दिया गया। खबर मिलने तक अजय की हालत अत्यंत गम्भीर थी। गोली चलने वालों का अभी तक पता नही चल पाया है।

पहले भी चली है, राजगढ़ कोर्ट में गोलियां

इससे पहले सन 2000 में भी राजगढ़ कोर्ट परिसर में गोलियां चल चुकी है। जिसमे सुमेर फगेड़िया नामक युवक पर गोलियां चलाई गई थी। जो मामला चूरू जिले में बहुचर्चित रहा था।

[स्रोत- विनोद रुलानिया]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here