सबसे पहले सरदार वल्लभ भाई पटेल को भारत रत्न मिलना चाहिए था: अमित शाह

आज पूरा देश सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती मना रहा है और उनके योगदानों का स्मरण कर रहा है.भारत के लोहपुरुष कहे जाने वाले सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर देशभर में ‘रन फॉर यूनिटी’ का भी आयोजन कराया गया है. इसी ‘रन फॉर यूनिटी’ की दिल्ली में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने हरी झंडी दिखाकर शुरुआत की.

Amit Shah

[Images Source : ANI]

हिमाचल प्रदेश में सभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने बयान दिया है कि अगर देश में सबसे पहले किसी को भारत रत्न मिलना चाहिए था तो सरदार वल्लभ भाई पटेल को ही मिलना चाहिए था उनके अभूतपूर्व योगदानों से ही आज देश इस मुकाम पर पहुंचा है और हमें उनके इन अभूतपूर्व योगदान को बिल्कुल भी भुलाना नहीं चाहिए.

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए अमित शाह ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा है कि राहुल बाबा 3 साल का जवाब मांगते हैं मगर मैं उनसे यह जवाब मांगता हूं कि इतने साल में उन्होंने क्या किया है तथा हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र को निशाना बनाते हुए अमित शाह ने कहा कि शिमला की गुड़िया के साथ जो हुआ उसका जिम्मेदार कौन है.

हिमाचल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव की वजह से हिमाचल प्रदेश का माहौल इस ठंडी के मौसम में भी गर्म बना हुआ है. 9 नवंबर को ही हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव होने वाले हैं जिससे राजनैतिक पार्टियां एक दूसरे पर जमकर आरोप लगा रही हैं और खिंचाई करने में कोई भी नेता पीछे नहीं हट रहा है.

अभी कुछ दिनों पहले हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि BJP की ताकत मोदी है बल्कि हमारी ताकत हमारा काम है साथ ही यह भी कहा था कि हम उन की कमजोरियों को भी जानते हैं और उनकी मजबूतियों को भी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here