जोधपुर के टिमनाथ जोगी जैसा दर्द और मुसीबत भगवान किसी को न दे

जब मुसीबत आती है तो इंसान को चारों तरफ से घेर लेती है ये कहावत तो आपने सुनी ही होगी लेकिन हम आज ऐसे ही एक इंसान की कहानी आपको बताने जा रहे है। ये कहानी जोधपुर जिले की ओसियां तहसील के ग्राम पंचायत पल्ली के गांव पल्ली-2 के एक गरीब परिवार टिमनाथ जोगी की हैं।timnaath Jogi and his familyटीमनाथ जोगी और उनका पूरा परिवार अनेक बीमारियों से ग्रस्त है, जिसमें पीड़ित की मां चिड़िया देवी (80 वर्ष) जो नेत्रहीन है साथ ही उसके एक हाथ में अज्ञात बीमारी होने के कारण दिन-प्रतिदिन उसका हाथ गल रहा है। टिमनाथ की आर्थिक स्थिति बहुत कमजोर होने के कारण उनकी माँ का हाथ स्थानीय डॉक्टरों को दिखाया लेकिन इलाज नहीं हो पाया इस बीमारी ने उनकी माँ को दीमक की तरह जकड़ लिया है साथ ही पीड़ित टीमनाथ की पत्नी भी मानसिक रुप से पीड़ित है तथा परिवार भी बड़ा होने के कारण परिवार का भरण-पोषण ठीक से नहीं कर पाता है।TimNaath Jogi's Motherपीड़ित टिमनाथ पारिवारिक चिंताओं के कारण खुद भी शारीरिक रूप और मानसिक रूप से टूट चुका है। अब पूरा परिवार बेबस और लाचार है। अब उन्हें या तो कोई समाजसेवी या सरकारी सहायता ही इस मुसीबत से बाहर निकाल सकती है।TimNaaath Jogiपीड़ित टिमनाथ ने बातचीत के दौरान बताया कि उन्होंने कई बार सरकारी योजना में आवेदन किया लेकिन उन्हें एक भी योजना का लाभ नहीं मिल सका पीड़ित टिमनाथ का परिवार बीपीएल में भी चयनित नहीं है और ना ही उन्हें प्रधानमंत्री आवासीय योजना के तहत तय राशि उपलब्ध हुई है। साथ ही मुख्यमंत्री वृद्धा पेंशन योजना सहित अन्य सुविधाओं से भी वंचित हैं। इतना ही नहीं सरकारी स्तर पर मिलने वाली योजनाओं से पीड़ित टीमनाथ का परिवार पूर्ण रूप से वंचित हैं।

टिमनाथ जी से बातचीत के दौरान उनका दुःख साफ देखा जा सकता था। उनके दिल से दु:खो पहाड़ टूट रहा हैं और टीमनाथ जी की आँखों के आँशु भी सुख चुके थे। उन्होंने इतना ही कहा कि भगवान ऐसी बीमारी और मुसीबत किसी को भी न दे।

[स्रोत- विनोद रुलानिया]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here