जीएसटी और नोटबंदी जैसे फैसले लाए रंग, मूडीज ने बढ़ाई भारत की रेटिंग

जीएसटी और नोटबंदी जैसे फैसले भले ही देश की जनता को नहीं भा रहे हो मगर इंटरनेशनल रेटिंग एजेंसी सर्विस मूडीज को जीएसटी और नोटबंदी जैसे फैसलों ने काफी लुभाया जिस कारण इंटरनेशनल रेटिंग एजेंसी सर्विस मूडीज ने भारत की सॉवरेन रेटिंग बढ़ा दी है और साथ ही आउटलुक भी पॉजिटिव से स्थिर कर दिया है. कमाल की बात यह है कि 14 साल पहले भी अटल बिहारी वाजपेई मतलब बीजेपी सरकार के तहत ही ग्लोबल रेटिंग में बढ़त हुई थी.

GST

मूडीज द्वारा भारत की रैंकिंग में सुधार किया जाना भारत के आर्थिक और संस्थानिक सुधारों के कारण माना जा रहा है. अभी तक भारत सरकार के बॉन्ड की रेटिंग BAA3 थी जिसे मूडीज ने बढ़ाकर BAA2 कर दिया है. इतना ही नहीं इसके शॉर्ट टर्म लोकल करेंसी की रेटिंग भी P2 से P3 कर दी गई है. BAA3 रेटिंग सबसे कम निवेश वाली स्थितियों को दर्शाता है. आपकी जानकारी के लिए बता दें 2004 में भारत की रेटिंग BAA3 थी, 2015 में रेटिंग स्टेबल से पॉजिटिव कर दिया गया था.

रेटिंग बढ़ाने के साथ साथ मूडीज का कहना है कि भारत के आर्थिक सुधारों से तेज वृद्धि होगी मगर इसका असर धीरे-धीरे देखा जाएगा. वित्त वर्ष 2018 में जीडीपी ग्रोथ 6.7 फीसदी और वित्त वर्ष 2019 में 7.5 फीसदी रहना संभव है. मगर 2020 के बाद भारत वृद्धि में अपनी रफ्तार पकड़ सकेगा.

अमित शाह और अन्य ने मोदी सरकार को बधाई देते हुए कहा कि पीएम की लोकप्रियता और उनकी सरकार के काम के कारण लगातार सुधार हो रहे हैं इससे पहले भी भारत ने ईज़ ऑफ डूइंग की रेटिंग में भी सुधार किया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here