नववर्ष पर पूरी दुनिया में ख़ुशी का माहौल था, लेकिन चूरू के गांव गोरियासर में सन्नाटा

जब पूरी दुनिया आने वाले नए साल के जश्न में डूबी थी। जब लोगो के पास HAPPY NEW YEAR के सन्देश आ रहे थे। लोग एक दूसरे को आने वाले नव वर्ष की शुभकामनाओ के सन्देश दे रहे थे। उस वक्त चूरू जिले की रतनगढ़ तहसील के गोरियासर गांव में एक ऐसा सन्देश आया की पुरे गांव में सन्नाटा छा गया।

 गांव में आई बेटे के शहीद होने खबर

इस सन्देश में बताया कि आपका बेटा राजेंद्र नैण शनिवार रात को हुए सेना के कैंप पर आतंकी हमले में शहीद हो गया है। राजेंद्र नैण CRPF की 130 बटालियन का जवान था। जो तकरीबन दो साल पहले ही सेना में भर्ती हुआ था। राजेंद्र अपने 4 बहन-भाइयो में सबसे छोटा था। शहीद राजेंद्र नैण करीब 20-22 दिन पहले ही घर से छुट्टी काटकर वापस देश की रक्षा के लिए सीमा पर गया था।

जानकारी से पता लगा है,की शहीद राजेंद्र नैण की पार्थिव देह सोमवार यानि 1 जनवरी को उसके गांव पहुचेगी जहाँ राजकीय सम्मान के साथ शहीद का 16वा संस्कार किया जायेगा। हम आपको यहा बता दे की नववर्ष से पहले ही जम्मू कश्मीर के पुलवामा में बड़ा आतंकी हमला हुआ। फिदायीन आतंकियों ने अवंतिपुरा के लीथपोरा में सीआरपीएफ कैंप को निशाना बनाया।

ट्रेनिंग कैंप पर हुए इस हमले में 5 जवान शहीद हो गए हैं। इन पांच माँ भारती के सपूतों में एक सपूत हमारे चूरू का राजेंद्र नैण शामिल था। घंटों बाद सुरक्षाबलों ने 2 आंतकियों को मार गिराया। इस हमले की जिम्मेदारी जैश-ए मोहम्मद ने ली है।

फिर भी की पूरी टीम भगवान से प्रार्थना करती है इस दुःख की घड़ी में भगवान शहीदों के परिवार को इस आघात को झेलने की शक्ति दे।

शहीदों के चरणों में श्रदासुमन अर्पित…

[स्रोत- विनोद रुलानिया]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here