कैसे करें थायरॉइड को नियंत्रित इन 5 खाद्य के साथ

थायराइड एक ऐसी बीमारी है जो अपके खान-पान और आपकी लाइफस्टाइल ख़राब होने के कारण होती है. वैसे यह बीमारी पुरुषो की तुलना में महिलाओं में ज्यादा देखने को मिलती है. थायराइड गर्दन में एक तितली के आकर का ग्लैंड की तरह नजर आता है. थायराइड जैसी बीमारी वैसे तो नमक की कमी से भी होती है. Thyroid
लेकिन इसके आलावा भी कई तरह के ऐसे प्रकार है जो इस बीमारी को प्रभावित करते है. तो आज हम आपको ऐसे ही कुछ खाद्य पदार्थों के बारे में बताने जा रहें है जिनकी मदद से आप थायराइड का स्वास्थ्य बेहतर रख सकतें है.

हरी सब्जियाँ

हरी सब्जियाँ खाना तो वैसे भी हमारी सेहत के लिए फायदेमंद होता है. हरी सब्जियों में आप ब्रोक्कोली, पत्तेदार सलाद, आप अपनी डेली डाइट में इस्तेमाल कर सकतें है, क्योंकि इन सब्जियों में मैग्नीशियम की मात्रा भरपूर होती है. इसके आलावा इनमें मिनरल्स होने के कारण यह आपके शरीर की प्रक्रियाओं में बड़ी भूमिका निभाते हैं. ऐसे में थायराइड के बेहतर स्वास्थ्य के लिए आप इनका सेवन जरुर करें.

[ये भी पढ़ें : बालों की हर समस्या के लिए रामबाण औषधि है- करी पत्ता]

सूखे मेवे या ड्राई फ्रूट्स (नट्स)

काजू, बादाम, अखरोट, कद्दू के बीज और पिस्ता इनका सेवन करने से शरीर में लोहे और सेलेनियम की हो रही कमी को पूरा किया जा सकता है. लेकिन इस बात का हमेशा ध्यान रखें की इनकी मात्रा नियमित ही हो. वरना यह आपके शरीर को नुकसान भी पंहुचा सकतें है. लेकिन आपको बता दे कि इसमें मौजूद लोहे और सेलेनियम के उत्कृष्ट स्रोत हैं, जो थायराइड स्वास्थ्य का समर्थन करते हैं. ऐसे थायराइड के बेहतर स्वस्थ के लिए यह भी एक अच्छा विकल्प है.

सी फूड्स

सी फ़ूडस का सेवन करके आप अपने थाइरोइड के स्वास्थ्य को बेहतर कर सकतें है क्योंकि सीफ़ूड में आयोडीन प्रचूर मात्रा में पाया जाता है जो हमारे सेहत के लिए बहुत आवश्यक है. सीफ़ूड में आप मछली, श्रिम्प और समुद्री शैवाल का सेवन करना आपके लिए फायदेमंद साबित होगा.

[ये भी पढ़ें : इन शाकाहारी खाद्य पदार्थों के सेवन से भी कर सकते है प्रोटीन की पूर्ति]

नमक

जैसा कि हम आपको ऊपर भी बता चुके है कि थायराइड जैसी बीमारी का होने का कारण भी नमक ही है अगर आपके शरीर में आयोडीन की कमी हो रही है, ऐसे नमक का सेवन पर्याप्त मात्रा में जरुर करें. लेकिन इस बात का भी ध्यान रखना बेहद जरुर की इसकी मात्रा ज्यादा होना भी आपके लिए हानिकारक है. थायराइड को सही तरह से स्वास्थ्य करने के नमक का सेवन जरुर करें.

अण्डे

अण्डे सेलेनियम का एक उत्कृष्ट स्रोत है, यह थायरॉयड हार्मोन टी 4 के रूपांतरण को टी 3 के उपयोग योग्य रूप में परिवर्तित करने में मदद करता है. अंडा आप रोजाना भी खा सकतें है, ऐसा करने से आपके शरीर में प्रोटीन की कमी भी पूरी होती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here