श्रीविजयनगर में हुआ तिरंगा अपमानित, निजी स्कूल की करतूत

श्रीविजयनगर में हुआ तिरंगा अपमानित,निजी स्कूल की करतूत। शामिल नहीं देश के राष्ट्रीय पर्व के गणतंत्र दिवस में रसूखदार विद्यालय। क्योंकि एक तरह तो जहा देशभर में राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस के मौके पर बड़ी धूमधाम से गणतंत्र दिवस मनाया जा रहा ह था, वही श्री विजय नगर में राष्ट्रीय पर्व के अपमान का एक मामला सामने आया प्रशासन की ओर से श्री विजयनगर में सामूहिक राष्ट्रीय पर्व मनाने का कार्यक्रम राजकीय विद्यालय में आयोजित किया गया।

श्रीविजयनगर में हुआ तिरंगा अपमानित

परंतु एक निजी विद्यालय न्यू हॉप मॉडल स्कूल द्वारा राष्ट्रीय पर्व का अपमान किया गया। न्यू मॉडल विद्यालय द्वारा राष्ट्रीय सम्मान की गरिमा को दरकिनार करते हुए गणतंत्र दिवस के अवसर पर भी विद्यालय लगाया गया जिसको देखते हुए निजी शिक्षक संघ द्वारा उपखंड प्रशासन को इस मामले की शिकायत की गई मामले में उपखंड अधिकारी रामरख मीणा द्वारा तुरंत कार्यवाही करते हुए स्कूल को बंद करवाने के निर्देश दिए साथ ही विद्यालय संचालक को फटकार लगाई जिसके बाद स्थानीय पुलिस प्रशासन ने मौके पर पहुंचकर विद्यालय को बंद करवाया श्रीविजयनगर में न्यू हॉप स्कूल के द्वारा गणतंत्र दिवस के अपमान का मामला।

इसलिए मौके पर स्कूल बंद करवा ओर स्कूल से बच्चों को निकाल गेट बंद कर दिया गया लेकिन किसी भी तरह की सख्त कार्यवाही करने से बचते नजर आए प्रशासन के अधिकारी। क्योंकि राजनैतिक रसूख़ रखता हस्कूल संचालक। न्यू हॉप स्कूल।अवि दनेवालिया स्कूल संचालक का पुत्र भाजपा वर्तमान सत्तानशीन सरकार की पार्टी में भी है पदाधिकारी। इसलिए गणतंत्र दिवस पर गणतंत्र का अपमान करने पर भी श्रीविजयनगर प्रशासन बौना साबित हुआ स्कूल में जाकर छुटी करवाने के अलावा किसी बड़ी कार्यवाही से बचते रहे अधिकारी, और श्रीविजयनगर पुलिस मौके पर गई लेकिन मीडिया कर्मियों को कुछ भी बताने से बचते नजर आई न ही शिक्षा विभाग कुछ प्रतिक्रिया देता नजर आए,जब ब्लॉक शिक्षा अधिकारी को सम्पर्क किया गया तो मोबाइल स्विच ऑफ मिला, वहीं जिला शिक्षा अधिकारी श्री तेजा सिंह जी से भी कुछ प्रतिक्रिया नहीं मिली।

श्रीविजयनगर में हुआ तिरंगा अपमानित

ऐसा लगा कि किसी को भी गणतंत्र दिवस के पर्व का निजी स्कूल पायनियर और न्यू हॉप द्वारा अपमानित करने का कोई फर्क नहीं पड़ता।क्योंकि इतने गम्भीर मुद्दे राष्ट्रीय स्तर के मुद्दे देश के सविधान देश की आन बान शान के पर्व गणतंत्र दिवस की कई इज्जत ही नजर नहीं आई भाजपाई भाजयुमो नेता अवि दनेवालिया के स्कुल के मामले में सरकार के विभाग की कार्यवाही बौनी साबित हुई भाजपा सरकार है तो इसके नाते देश के राष्ट्रीय पर्व के सममान से खिलवाड़ करने से किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता, क्योंकि संबंधित विद्यालय भी भाजयुमो के नेता अवि दनेवालिया के पिता संचालित करते हैं।

भाजपा नेता से सम्बंधित विद्यालय का है मामला।लेकिन सरकार के सम्बंध रखते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं का रसूख़ होना भारतीय गणतंत्र दिवस का अपमानित करने का अधिकार किसने दिया?आखिर देश के राष्ट्रीय पर्व का अपमान करने पर क्या इनके खिलाफ कारवाही होती हैं उसकी प्रतीक्षा में है आमजन। क्योंकि भाजपा रसूख़दर नेता कानून सबके लिए समान। हुआ राष्ट्रीय पर्व का अपमान।

[स्रोत- सतनाम मांगट]PhirBhiNews Whatsapp Banner

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here