सिद्धमुख में नहर निर्माण के लिए हुए किसान महासभा

सिद्धमुख कस्बे में सिद्धमुख नहर के निर्माण कार्य को पृर्ण करवाने एवम उसमे 11 क्यूसेक पानी देने तथा पानी चोरी को रोकने के लिए आज 47 गाँवो की किसान महासभा का आयोजन हुआ। जिसमें 5000 हजार किसानों के साथ महिलाओं ने, सादुलपुर विधायक मनोज न्यागली, पद्मश्री कृष्णा पूनिया समेत कस्बे के कई जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।

Kisan Mahasabha

पिछली 6 नवम्बर से चल रहे धरने को कृष्णा पूनिया ने सम्बोदित करते हुए कहा कि जो लोग आपके इलाके से लोकसभा एवम विधानसभा के लिए चुने जाते है। उनको आपके मुद्दे आपकी समस्याये पता होनी चाहिए। उन्हें पता होना चाहिए की किस मुद्दे पर विधानसभा एवम लोकसभा में बहस करनी है। पर वो लोग इस पर बहस नही करते है।

चुनाव के समय तो वो लोग आपके बीच वोट मांगने आ जाते है,और बोलते है, हम नहर बनवा देगे। पर चुनाव जितने के बाद आराम से विधानसभा व् लोकसभा में जाकर बैठ जाते है। तो मै आप लोगो को बता दू इस प्रकार न तो नहर बनी है और ना ही नहर बनेगी।किसानों को आश्वासन दिया की आपकी ये बेटी सदा आपके साथ थी और आज भी आपके साथ है और आगे भी आपके साथ रहेगी।

इसी महासभा को सम्बोदित करते हुए सादुलपुर विधायक मनोज न्यागली(BSP) ने कहा कि हम लोग 3 बजे उपखंड अधिकारी को ज्ञापन दे देंगे तो कोई ये न समझे की धरना समाप्त हो गया है, अब ये धरना नहर आने के बाद ही समाप्त होगा। और किसानों से आग्रह किया कि जो इस धरने का समर्थन करते है,वो रोज़ यहा आये मै आपके साथ हु। और आज से रोज़ आपको इस धरने पर मिलूंगा।जरूरत पड़ीं तो भूख हड़ताल भी करुगा ।

इस महासभा को अशोक जांगिड़ एवम जगतसिंह ने अपने औजस्वी सम्बोधन से महासभा में आये किसानों में जोश भर दिया। एवम उनके सम्बोधन को सुनकर किसानों के मुह से अपने आप निकल पड़ा ‘किसान एकता जिंदाबाद-हम नहर लेकर रहेंगे’। इस महासभा के बाद उपखंड अधिकारी को ज्ञापन दिया गया। साथ ही किसान महासभा को किसान जन प्रतिनिधि हरिराम जी कस्वां, अशोक भाम्बू जी ने भी सबोधित किया। इस महासभा में महिलाएं भी काफी सख्या में मौजूद रही।

किसानों की इस प्रकार एकता एवम अपनी जायज मागो के प्रति जागरूकता को देख कर हर कोई कह सकता है,की वो दिन दूर नही जब इन अन्नदाताओं के आगे शासन एवम प्रशासन झुकता हुआ नजर आएगा। एवम इन अन्नदाताओं को अपनी फसल के लिए पानी नसीब होगा।

[स्रोत- विनोद रुलानिया]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here