जानिए क्या हैं? आँखों के थकान दूर करने का रामबाण इलाज

अक्सर दिनभर ऑफिस में लगातार कंप्यूटर तथा लैपटॉप पर देखते रहते हैं. फिर उसके बाद भी हम सब लोग अपने मोबाइल और टेबलेट के साथ चिपके रहते हैं. जिसकी वजह से अधिकतर लोगों की आंखों में बहुत सी छोटी-मोटी परेशानियों जैसे कि आंखों में जलन, सर में दर्द, आंखों में सूजन रहने लगता है. Eye Careआजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में हम सब की लाइफस्टाइल ऐसी है जिसमे बिना लैपटॉप, मोबाइल फोन, टैप इत्यादि इस्तेमाल करें बिना हमारा गुजारा ही नहीं हो सकता हैं. इसलिए मजबूरन हमें इन गैजेट का इस्तेमाल करना ही पड़ता है और इसी कारण अक्सर हमारी आंखों पर ज्यादा दबाव रहने लगता है.

यदि आपको भी आंख से जुड़ी कोई ऐसी समस्या है तो अब घबराने की कोई आवश्यकता नहीं हैं. क्योंकि आज हम आपको इन सभी समस्याओं से निजात पाने का एक ऐसा आसान उपाय बताने वाले हैं जिनको जानने के बाद आप अपनी आंखों से जुड़ी समस्याओं से निजात पा सकेंगे. वह भी कुछ ही समय मे.

हम आपको कुछ ऐसे एक्सरसाइज बताने वाले हैं, जो कहीं पर भी बिना ज्यादा समय लगाए आप बड़ी ही आसानी से कर सकेंगे. इस एक्सरसाइज को आप अपने काम के दौरान भी कर सकेंगे, जिससे आपकी आंखों को बहुत राहत मिलेगा.

1. सबसे पहले इस एक्ससरसीसे को करने के लिए अपनी हथेलियों को आपस में रगगे फिर इनको अपनी अपनी आँखों पर रखें, फिर कुछ देर बाद अपनी आँखों को धीरे-धीरे खोले. याद रहे अपनी हथेलियों को आँखों पर हलके से रखें नहीं तो इसका असर आँखों पर भी पर सकता हैं.

2. आंखों में सामानय से ज्यादा थकान हो रही है तो आप अपनी आंखों को ऊपर की ओर नीचे की ओर तथा सामने देखें. ऐसा रोजाना 5 से 10 मिनट तक करने पर इससे आपका ध्यान केंद्रित रहता है. और आपकी आंखों से थकान भी दूर हो जाती है.या एक ऐसी तकनीक है जिसको अपनाने से आपकी आंखों में होने वाली छोटी मोटी समस्याएं दूर हो जाएंगी.

3. आपकी आंखों में पहले से ज्यादा चमक आती है और इससे आपकी आई साइड भी मजबूत होती है साथ ही साथ ही यह तकनीक आपकी आंखों को संक्रमण से लड़ने की शक्ति भी प्रदान करती है. यह जो आप की आंखों के साथ साथ आपके मन को भी एकाग्र करने में बहुत मदद करता है.

4. आंखों में होने वाली रोजाना की छोटी मोटी समस्याओं को दूर करने के लिए यह भी जरूरी है कि आप रोजाना भरपूर नींद जरूर लें जो आपकी आंखों के लिए बेहद जरूरी होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here