जानिए नाखून चबाने की आदत कितनी खतरनाक हो सकती हैं

दोस्तों नाखून चबाना हमारे स्वास्थ्य के लिए कितना हानिकारक हो सकता है इस बात का आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते. किस प्रकार नाखूनों की परत के नीचे उपस्थित बैक्टीरिया नाखून चबाने के साथ-साथ हमारे शरीर में पहुंचकर हमें हानि पहुंचाते हैं इस बात की हम आपको आगे जानकारी देंगे.nail chewing

नाखून चबाने की गंदी आदत बच्चों और बड़ों किसी में भी हो सकती है. नाखून चबाना एक स्वाभिक सी आदत है जिसे व्यक्ति नर्वस होने पर या तनाव होने पर ज्यादा देखी जाती हैं. इनके अलावा यह एक सामान्य सी आदत भी हो सकती है मगर यह आदत कितनी खतरनाक हो सकती है और स्वास्थ्य का इस पर क्या असर हो सकता है हम आपको बताते हैं. नाखून काटना जहां नाखूनों की शेप को भी बिगाड़ देता है तो साथ ही आपके हाथों के सौंदर्य को भी ख़राब कर देता है. नाखून चबाने से आपके नाखूनों की सामान्य वृद्धि पर भी अंतर तो पड़ता ही हैं साथ ही आपके नाखून सही शेप नहीं ले पाते हैं और वह टेढ़े-मेढ़े हो जाते हैं.

[ये भी पढ़ें: नाखून चबाने की आदत से कैसे छुटकारा पाएं]

यह आप सभी जानते हैं आप हाथों को कितना भी साफ कर लें, मगर आप नाखून साफ करना भूल ही जाते हैं और दिन में आप जितनी बार हाथ धोते हैं उतनी बार नाखून साफ नहीं कर सकते. ऐसे में नाखून चबाना आपके लिए हानिकारक साबित हो सकता है क्योंकि नाखूनों की उचित सफाई न हो पाने पर नाखूनों की परत के नीचे नुकसानदायक स्टेफिलोकोकस नामक बैक्टीरिया नाखून चबाने से आपके मुंह में चला जाता है.

नाखून से मुंह तक बैक्टीरिया का पहुंचना

जैसा की हमने पहले भी बताया है कि आप बार-बार अपने हाथों की सफाई तो कर सकते हैं मगर नाखूनों की सफाई नहीं कर सकते इसलिए नाखूनों के भीतर गंदगी रह जाती है जिससे उन में साल्‍मोनेला और ई कोलाई जैसे रोगजनक बैक्टीरिया पैदा होते हैं. जब आप नाखून को काटते हैं तो बैक्टीरियाआपके मुंह के दोबारा आपके शरीर में प्रवेश कर जाते हैं जो संक्रमण का कारण बनते हैं.

संक्रमण

जो लोग नाखून चबाते हैं उन लोगों में पैरोनिशिया से पीड़ित होने का खतरा बढ़ जाता है. पैरोनिशिया एक प्रकार का त्वचा संक्रमण है जो नाखून के आसपास की त्वचा में होता है. जब आप मुंह से नाखून चबाते हैं तो आसपास की त्वचा भी छिल जाती है जिसके जरिए बैक्टीरिया त्वचा के अंदर प्रवेश कर जाते हैं.

[ये भी पढ़ें: बारिश के मौसम में आंखों के संक्रमण से कैंसे बचें]

नाखूनों से दांतों का संबंध

आपके नाखून की गंदगी आपके दांतो को भी कमजोर बनाती है अधिक नाखून चबाने वाले लोगों के दांत एक समय के बाद अपने मूल स्थान से हटकर आगे की स्थानांतरण होने लगते हैं. इतना ही नहीं आगे शिफ्ट होने के साथ-साथ कमजोर भी होने लगते हैं और वक्त रहते ध्यान ना दिया गया तो टेढ़े-मेढ़े भी हो सकते हैं.

आत्मसम्मान में कमी

एक शोध के दौरान पाया गया है कि जो लोग नाखून चबाते हैं उनमें आत्मसम्मान की भी कमी होने लगती है. आप जब भी कभी मीटिंग में जाते हैं और नाखून चबाते हैं तो उसका लोगों पर गलत असर पड़ता है और यह बात धीरे-धीरे आपको भी महसूस होने लगती है जो आपके आत्मसम्मान में गिरावट लाती है. नाखून चबाना नर्वस और तनाव का कारण माना जाता है और कोई भी कंपनी ऐसे व्यक्ति को अपने साथ नहीं लाना चाहेगी जो पहले से ही तनाव से जूझ रहा हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here