रैयाटुण्डा में हुआ किसान संसद का आयोजन

आज मदनलाल जी स्वामी की अध्यक्षता में अखिल भारतीय किसान सभा द्वारा तारानगर तहसील के गांव रैयाटुण्डा में किसान संसद का आयोजन किया गया। रैयाटुण्डा में हुआ किसान संसद का आयोजनइस सभा में किसान संसद को संबोधित करते हुए प्रदेश उपाध्यक्ष बलवान पूनियां ने कहा सरकार की नीतियों की वजह से किसान जब अपनी उपज को बाजार में बेचने जाता है तो कम भाव मे बिकता है और वही उपज खरीदने जाता है तो ऊंचे दामो में मिलता है, इस भाव की लूट की वजह से किसान के कर्जा हुआ है जो सम्पूर्ण कर्जा किसान का माफ होना चाहिए। पर सरकार कर्ज माफ करने की बजाय चुप बैठी है। और न ही आज वो लोग सामने आ रहे है,जिन्होंने किसानों को हक़ दिलाने ,फसलों के उचित मूल्य दिलाने के नाम पर वोट तो ले लिए पर अब चुपचाप सत्ता का सुख भोगने में लगे हुए है।रैयाटुण्डा में हुआ किसान संसद का आयोजनकिसान सभा राज्य कमेटी सदस्य निर्मल कुमार ने कहा कि अखिल भारतीय किसान सभा समन्यव समिति के सांसदों द्वारा सम्पूर्ण कर्ज माफी और लागत का ढेड़ गुना भाव दोनों विधेयक संसद में रखे जाएंगे। जो संसद इस विधेयको का समर्थन नही करेगा ।उसे किसान विरोधी समझा जायेगा। जो इस मांग का विरोध करेगा वो चाहता ही नही है,की किसानों को उसका हक मिले। किसानों को उसकी फसलों का उचित मूल्य मिले । इसलिए विरोध करने वालो सांसदों का गांव गांव में बहिष्कार किया जाएगा।उन्हें चुनावो के दौरान गाँवो में घुसने नही दिया जायेगा।

किसान संसद को चिमनाराम पांडर, ताराचंद कस्वां, भोजराज महला, पूर्णाराम सरवाग, सुरजीत बिजारणियां, रोहितास सोलंकी आदि ने संबोधित किया। संसद के अध्य्क्ष मदन लाल स्वामी ने दोनों विधेयक संसद में रखे उपस्थित किसानों ने हाथ खड़े कर विधेयक पास किये। उपस्थित किसानों ने किसान एकता के गगन भेदी नारे भी लगाए।

[स्रोत- विनोद रुलानिया]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here