काशी में पीएम

pm modi in varanasi rally

उत्तर प्रदेश में आज एक तरफ छठे दौर की वोटिंग हो रही थी, दूसरी तरफ पीएम मोदी और सीएम अखिलेश का पावर शो चल रहा था वाराणसी में प्रचार के लिए आज दोनों नेता सड़कों पर उतरे। यहां आखिरी दौर में 8 मार्च को मतदान होना है। इससे ठीक पहले जबर्दस्त शक्ति प्रदर्शन हुआ। पहले पीएम मोदी ने खुली कार में सवार होकर रोड शो किया, इसके बाद अखिलेश यादव ने राहुल गांधी के साथ मिलकर अपने समर्थकों की ताकत दिखाई और काशी कुरुक्षेत्र में बदल गई, गंगा किनारे सबसे बड़ा शक्तिप्रदर्शन हुआ।

वाराणसी की सड़कों पर पहले प्रधानमंत्री उतरे, फिर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपनी ताकत दिखाई, वाराणसी में प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री अखिलेश, दोनों की साख दांव पर है पीएम मोदी को ये साबित करना है कि आज भी बनारस के लोग उन्हें अपना मानते हैं। उन पर जान छिड़कते हैं। और अखिलेश को पता है कि अगर पूर्वांचल में उनके विजय रथ का पहिया तेजी से नहीं घूमा, तो लखनऊ पर कब्जे की लड़ाई जीतना मुश्किल है।

पीएम मोदी एयरपोर्ट से बीएचयू पहुंचे। बीएचयू के गेट पर मोदी ने महामना मालवीय की प्रतिमा पर फूल चढ़ाए और इसके बाद फूलों की बारिश के बीच खुली कार से काशी विश्वनाथ मंदिर की ओर चल पड़े।

पूर्वांचल की आखिरी बाजी को जीतने के लिए ये पीएम मोदी का आखिरी दांव माना जा रहा है। पीएम मोदी ने लोकसभा चुनाव के दौरान भी वाराणसी में रोड शो किया था, लेकिन इस बार ये वन मैन शो था। खुली कार में सिर्फ मोदी सवार थे, बीजेपी का कोई और नेता उनके साथ नहीं था। कड़ी सुरक्षा के बीच मोदी समर्थकों की तरफ बार-बार हाथ हिला रहे थे, बीजेपी समर्थकों को उत्साह बढ़ाने में मोदी ने कोई कसर नहीं छोड़ी।

प्रधानमंत्री के रोड शो के बाद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और राहुल गांधी ने अपनी ताकत दिखाई। दोनों नेताओं का रोड शो काफी पहले होना था, लेकिन ये बार-बार टलता गया। लेकिन जब दोनों नेता एक साथ वाराणसी पहुंचे, तो अपने कार्यकर्ताओं को जोश बढ़ाने में कोई कमी नहीं छोड़ी। राहुल और अखिलेश यादव के साथ डिंपल यादव भी इस रोड शो में शामिल हुईं। वाराणसी में आखिरी दौर में 8 मार्च को वोटिंग होनी है… और इससे पहले काशी कुरुक्षेत्र में बदल गई।

पहले ऐसा शायद ही कभी हुआ हो जब प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के बीच सड़कों पर ऐसा शक्ति प्रदर्शन हुआ हो। सियासत का ऐसा पावर शो हुआ हो। इसी से समझा जा सकता है कि वाराणसी की लड़ाई बीजेपी और एसपी-कांग्रेस गठबंधन के लिए कितनी अहम है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here