जिसे आतंकवादी कहा वो ही मेयर बना

अमरीका के न्यूजर्सी में होबोकेन शहर में मेयर पद के लिए चुनावों का आयोजन किया गया। जिसमें एक भारतीय मूल के रवीन्द्र भल्ला शहर के पहले सिक्ख मेयर चुने गए हैं। इस चुनाव के प्रचार के समय उनके विरोधियों ने उन्हें आतंकवादी तक कहा गया था।Ravindra Bhallaभल्ला के समर्थन में, इस पद से जाने वाले मेयर डॉन जिमर ने एक जोरदार घोषणा करी। इस घोषणा में उन्होनें कहा कि अगले वर्ष जून में होने वाले चुनाव में वह अपने नाम का दावा पेश नहीं करेंगे। उनके इस फैसले से वहाँ के लोगों को काफी हैरानी भी हुई थी।

इस पद पर चुने जाने वाले रवीन्द्र भल्ला पिछले सात साल से नगर परिषद का हिस्सा रहे हैं। रवीन्द्र ने काउंसिल के अन्य सदस्य, माइकल डीफस्को, जेनिफर गियाटिनो और एंथोनी रोमानो सहित छह विरोधियों को हराते हुए यह शानदार जीत प्राप्त करी है।  इस चुनाव के परिणाम को घोषणा होने के बाद मंगलवार को गार्डन स्ट्रीट के मोरान पब में उन्होनें अपनी जीत का ऐलान किया था।

अपनी जीत की खुशी को ट्विटर पर ज़ाहिर करते हुए उन्होनें होबोकेन की जनता का शुक्रिया अदा किया। रवीन्द्र भल्ला ने उनपर, उनके समुदाय, राज्य और देश पर विश्वास करने के लिए उन्होनें सबका दिल से आभार व्यक्त किया ।

उन्होनें अपनी सीट की जनता को आश्वस्त करते हुए कहा कि जो भी बुरा वक्त था वो अब गुजर गया है और वो सबके साथ एक जुट होकर शहर के विकास के लिए सभी काम करने के लिए तैयार हैं।

उन्होनें उन बातों की ओर भी इशारा किया जब चुनाव प्रचार में उनके खिलाफ काफी कुछ गलत कहा गया था। कुछ लोगों ने उनके खिलाफ बोलते हुए उन्हें आतंकवादी घोषित करते हुए इस संबंध में पोस्टर भी छाप दिये थे। एक अन्य व्यक्ति ने ट्वीट के द्वारा उन्हें आतंकवादी बताते हुए उन्हें अमेरिका से बाहर भेज देने की बात कही थी।

भल्ला ने इस प्रचार के खिलाफ अपनी प्रतिक्रिया में आतंकवाद को मोहरा न बनाते हुए जनता से अपील करी थी की आतंकवाद को हमारे शहर पर कब्जा न करने दें।

कौन हैं रवीन्द्र भल्ला :

रवीन्द्र भल्ला न्यूजर्सी में किसी भी प्रशासनिक पद पर पहुँचने वाले पहले सिक्ख हैं।

न्यूजर्सी में जन्मे, पले और बढ़े, 17 साल से होबोकेन शहर में रहने वाले रवीन्द्र दो बार शहर परिषद के सदस्य रह चुके हैं।

कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी से साइकोलोजी के स्नातक और पब्लिक ऐडमिनिस्ट्रेशन में पोस्ट ग्रेजुएट किया है। इसके अतिरिक्त कानून की डिग्री भी है इनके पास।

न्यूयॉर्क में एक क्लाइंट को जेल में मिलने जाने पर संवैधानिक और सिविल अधिकारों के उल्लंघन के आरोप का विरोध किया और जनता की नज़रों में हीरो बन गए।

वर्ष 2011 से विभिन्न राजनैतिक पदों की शोभा रहे हैं ।

निरंतर न्यू जर्सी और होबोकेन शहर के सुधारों के लिए अपनी आवाज को बुलंद रखने वाले रवीन्द्र भल्ला पारिवारिक व्यक्ति हैं जहां उनकी पत्नी और दो बच्चे हैं।

शहर परिषद के सदस्य चुने जाते समय पहली बार खड़े होने वाले प्रत्याशी के रूप में उन्होनें सबसे अधिक वोट पाये थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here