शिवहर में रेल लाइन के लिए निर्णायक जन-आंदोलन का शंखनाद

शिवहर: बापूधाम मोतिहारी, सीतामढ़ी भाया शिवहर रेल लाईन परियोजना के क्रियान्वयन को स्थगित करने के विरोध में जिले में निर्णायक जन-आंदोलन का शंखनाद हो चुका है अब जनता की आवाज को दबाना वर्तमान से लेकर आगामी जन-प्रतिनिधियों के लिए टेढ़ी खीर साबित होगा। क्योंकि पिछले कुछ वर्षों में विशेषकर जिले के युवाओं मेें जिले के विकास को लेकर जो जागृति जगी हैं उसे देखकर ऐसा लगता है जैसे शिवहर वर्तमान में पुनर्जागरण के दौर से गुजर रहा है।AAndolan in shoehar for Rail lineयुवाओं के इस जागृति को शिवहर मेें नव-पुनर्जागरण का नाम दिया जाए तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। जब से इस तथ्य का खुलासा हुआ हैं कि बापूधाम मोतिहारी, सीतामढ़ी भाया शिवहर रेललाइन परियोजना के क्रियान्वयन को स्थगित कर दिया गया है तब से जिले में वर्तमान जनप्रतिनिधियों के प्रति आक्रोश व्याप्त हैं और तमाम सामाजिक संगठनों सहित आमजन एवं राजनीतिक दल भी निर्णायक आंदोलन के मूड में हैं।

इसकी एक झलक तब देखने को मिली जब रेल लाईन के लिए शिवहर समाहरणालय मैदान में विगत 28 अक्टूबर एवं 3 नवम्बर को एकदिवसीय सामूहिक भूख हड़ताल एवं कैंडल मार्च निकाला गया जिसमे तमाम सामाजिक संगठन, आमजन एवं राजनीतिक दल, दलगत भावना से उपर उठकर पहली बार शिवहर के विकास के लिए एकजुट होकर उक्त दोनों कार्यक्रमों में बढ-चढ़ कर भाग लिया और रेल के लिए आंदोलन में सभी अपनी-अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने की प्रतिबद्धता जताई।

शहर से लेकर गांव की चौपाल तक आंदोलन की धमक

क्या शहर ? क्या गांव ? हर जगह रेल के लिए आंदोलन की चर्चा छिड़ी हुई हैं। आरटीआई कार्यकर्ता सह संघर्षशील युवा अधिकार मंच के मिडिया प्रभारी शिवहर नगरवासी मुकुंद प्रकाश मिश्रा ने फिर भी! न्यूज के जिला रिपोर्टर संजय कुमार से बातचीत के दौरान अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि वर्तमान सांसद शिवहर के लिए एक अक्षम सांसद साबित हुई हैं क्योंकि इनकी अक्षमता के कारण ही शिवहर जिला को अनेक परियोजना से महरूम होना पड़ा हैं।

गौरतलब बात यह हैं कि ये वहीं मुकुंद प्रकाश मिश्रा हैं जिनको आरटीआई से रेल परियोजना के स्थगन की जानकारी लोगो को मिली। वहीं राष्ट्रीय गरीब अधिकार मंच के सचिव शिवहर नगरवासी क्रांतिकारी युवा आदित्य आजाद ने चेतावनी भरे लहजे में जनप्रतिनिधियों को चेताया कि जब-जब युवा शक्ति जागृत हुई हैं तब-तब सत्ता परिवर्तन हुआ हैं अतः वर्तमान सभी जनप्रतिनिधि सावधान हो जाएं !Aandolan insheohar for railway lineसंघर्षशील युवा अधिकार मंच के उपाध्यक्ष सह युवा समाजसेवी सरसौला खुर्द निवासी विक्की गुप्ता ने कहा कि वर्तमान सांसद के उदासीनता के कारण जिलावासियों को बापूधाम मोतिहारी, सीतामढ़ी भाया शिवहर रेललाइन परियोजना के लाभ से वंचित होना पड़ा जिसका खामियाजा उनको आगामी चुनाव में भुगतना पडे़गा। वहीं दूसरी जनजागरण मंच के सक्रिय सदस्य मिर्जापुर धोबाही निवासी सुधीर गुप्ता ने रेल के मुद्दें पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि जो जनप्रतिनिधि क्षेत्र के विकास के लिए अक्षम साबित हो वैसे जनप्रतिनिधियों का सामूहिक बहिष्कार होना चाहिए।

संघर्षशील युवा अधिकार मंच के महासचिव कमरौली निवासी रवि वर्मा ने सांसद से उनके हालिया बयान को लेकर यह सवाल पूछा कि वे बताएं उनके सरकार का रेल मंत्रालय झूठा हैं या वे स्वंय झूठ बोल रही हैं क्योंकि रेल मंत्रालय कहता हैं कि परियोजना को बंद कर दिया गया है और सांसद महोदया कहती है परियोजना बंद नही हुआ हैं तो अहम सवाल यह है कि झूठा कौन ? साबित करें। अन्यथा अपने पद से इस्तीफा दें।

यूथ क्लब के अध्यक्ष चिकनौटा निवासी वासिम अकरम ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि रेल के मुद्दें पर युवा निर्णायक आंदोलन के मूड में हैं क्योंकि शिवहर मेें रेल लाईन नहीं होने से जिले का विकास बाधित हैं। युवा समाजसेवी बसहिया शेख निवासी आजम शेख ने कहां अभी नहीं तो कभी नहीं क्योंकि राज्य और केंद्र दोनों जगह एक ही गठबंधन की सरकार हैं और वर्तमान सांसद, विधायक उसी गठबंधन से जिनकी दोनों जगह सरकार हैं। वहीं दो अन्य क्रांतिकारी युवा कुअमा निवासी अवनीश मिश्रा एवं फूलकाहा निवासी स्वदेश कुमार ने रेल लाईन परियोजना के क्रियान्वयन को स्थगित करने से आक्रोशित दिखे।

निष्कर्षतः कहा जा सकता हैं कि शिवहर मेें रेल लाईन के लिए एक बड़े आंदोलन की सुगबुगाहट तेज होती दिख रही हैं।

[स्रोत- संजय कुमार]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here