गौरी लंकेश हत्या मामले में मदद करेंगे एसआईटी टीम द्वारा जारी किए गए स्केच

5 सितंबर 2017 को एक स्वतंत्र जर्नलिस्ट गौरी लंकेश की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. जिस समय गौरी लंकेश की हत्या हुई उस समय वह अपने निजी निवास पर थी. उनके निवास पर लगे सीसीटीवी कैमरे की मदद से SIT टीम ने कुछ स्केच जारी किए हैं जिनकी मदद से गौरी लंकेश के हत्यारों को पकड़ने में मदद मिलेगी.

GauriLankesh

[Image Source : ANI]

स्केच जारी करने के साथ-साथ एसआईटी टीम ने एक वीडियो भी शेयर किया है जिसमें हत्या के पहले की कुछ फुटेज सामने हैं जिसमें हत्यारे गौरी लंकेश निवास स्थान के पास रेकी करते नजर आ रहे हैं. एसआईटी टीम के मुताबिक आरोपी लाल रंग की बजाज पल्सर जिसका नंबर KA-02 से शुरू होता है का इस्तेमाल करते नजर आए हैं.

गौरी लंकेश एक निडर और सच्ची पत्रकार थी जो हमेशा से अपनी स्वतंत्र आवाज के लिए जानी जाती थी और कन्नड़ भाषा में रचित एक पत्रिका सप्ताह में एक बार चाहती थी. उनकी यह स्वतंत्र आवाज और निडरता उनकी मौत का कारण बन जाएगी यह उन्हें भी मालूम नहीं था. शिक्षक दिवस 2017 को किसी ने गोली मार कर इस निडर और स्वतंत्र आवाज को शांत कर दिया.

गौरी लंकेश की हत्या के बाद उनकी स्वतंत्र आवाज को शांत हो गई मगर उनके हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए देश के प्रत्येक स्वतंत्र नागरिक की आवाज बुलंद हो गई. देश के कई बड़े बड़े नेता भी गौरी लंकेश हत्या मामले को लेकर चर्चाओं में बनी रहे. कांग्रेस के दिग्विजय सिंह ने गौरी लंकेश हत्या मामले को मुद्दा बनाते हुए भारत के प्रधानमंत्री मोदी को निशाना बनाते हुए कहा था कि “मोदी जैसा गुंडा मेरा प्रधानमंत्री है”.

SIT चीफ बी.के सिंह ने ने कहा है कि आसपास के नागरिक आरोपियों को ढूंढने में हमारी मदद कर सकते हैं और हमें उम्मीद है कि हम जल्द ही गौरी लंकेश हत्या मामले की गुत्थी को सुलझा लेंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here