सिर्फ स्वाद ही नहीं सेहत भी बनाते है मसाले

सिर्फ स्वाद ही नहीं सेहत भी बनाते है मसाले

भारत को मसलों का देश भी कहा जाता है। मसाले सिर्फ भोजन को स्वादिष्ट बनाने में ही काम नहीं आते है बल्कि मसाले हमारी सेहत बनाने में भी मददगार है। कहा जाता है की भारत के मसाले किसी दवा से कम नहीं है। क्‍या आप जानते हैं कि भारतीय मसाले जैसे, अदरक,जीरा, हल्दी, अजवाइन, इलायची और लौंग का इस्तेमाल भोजन में करने से यौन शक्ति में बहुत फायदा होता है। कश्मीर में पैदा होने वाला केसर भी कुछ कम नहीं है। कहते है की केसर को खाने से सुंदर और दमकता हु‍आ चेहरा मिलता है। लेकिन यह हमरे दिमाग के लिए भी बहुँत फायदेमंद होता है। घरेलु नुस्खे के तौर पर इनका उपयोग किया जाये तो यह किसी दवा से कम नहीं है। आइये जानते है मसालों तथा उनसे होने वाले फायदों के बारे में।

हल्दी

हल्दी हमारे लिए अत्यंत लाभकरी होती है। अगर हमारे शारीर में किसी भी प्रकार का दर्द, चोट, घाव अथवा खून की कमी है तो इसका सेवन हमारे लिए बहुत असरदार होता है। नमक के पानी में थोड़ी सी हल्दी को मिलाकर गरारे करने से गले की खराश खत्म हो जाती है। अगर कटने पर खून बहने लगे और न रुके तो हल्दी को उस जगह पर हल्दी लगाने से खून बहना बंद हो जाता है।

जीरा

जीरा हमारे शारीर में होने वाली खून की कमी को भी दूर करता है, लेकिन इसका सेवन अगर नियमित रूप से किया जाये तो, जीरे में आयरन भी पाया जाता है। अगर आपको लगता है की आपका खाना हजम नहीं होता है या फिर आपको एसीडिटी की परेशानी है तो कच्‍चा जीरा मुंह में डाल कर खा लें, इससे आपको जल्द ही आराम मिलेगा। जीरा पाइल्‍स की समस्‍या को दूर करने में भी मदद करता है।

अदरक

अदरक पेट के लिए बहुत फायदेमंद होता है। अदरक में जिंजेरोल्स नामक तत्व पाया जाता है जो शारीर में होने वाली सूजन और दर्द से छुटकारा दिलाने में मदद करता है। अदरक के सेवन से हड्डी के रोग जैसे गठिया और मासंपेशियों के दर्द भी आराम मिलता है। माइग्रेन का दर्द होने पर भी अदरक का सेवन फायदेमंद होता है। अगर आपको ख़ासी जैसी परेशानी से रात में सोने में तकलीफ़ होती है तो थोड़ा सा अदरक लेकर उस पर काला नमक लगाकर उसे दांत के नीचे दबाकर कर सोने से आपको ख़ासी नहीं आएगी और आप आराम से चैन की नींद ले सकते हैं।

अजवायन

अजवाइन में कई औषधीय गुणों होते है। अजवाइन का इस्तेमाल आयुर्वेद में भी किया जाता है। अगर आपके पेट में मरोड़ जैसी परेशानी होती है तो आपके लिए अजवाइन किसी दवा से कम नहीं है। रात में सोने से पहले एक गिलास पानी में थोड़ी सी अजवाइन डालकर कर रखें और सुबह इस पानी को खली पेट पीने से आपके पेट की चर्बी को कम करने में मदद करेगी। अजवाइन हमारे खाने को पचाने में भी मददगार साबित होती है।

हींग

देखा जाए तो हींग का इस्तेमाल हर किसी की रसोई में मसाले के रूप में किया जाता हैं। लेकिन इसका सेवन गर्भवती को नहीं करना चाहिए ऐसा इसलिए है क्योंकि हींग की तासीर गर्म होती है। पेट में दर्द होने पर हींग को पानी में मिलाकर पेट पर मलने से पेट दर्द में आराम मिलता है। हींग असली है या नकली इसकी पहचान करने के लिए हींग को पानी में घोलने पर पानी का रंग सफ़ेद हो जाये तो हींग असली होने का पता चल जाता है।

लौंग

लौंग का इस्तेमाल कई तरह से करते है। लौंग का इस्तेमाल हम खाने को सुगंधित बनाने के लिए भी करते है। अगर आपके दांत में दर्द है तो एक लौंग को लेकर दांत तले दबाकर रखने से दर्द में आराम मिलता है इसके आलावा हम लौंग के तेल का भी इस्तेमाल कर सकते है। लौंग मुह की बदबू को दूर करने में भी मदद करती है। लौंग के सेवन से भूख भी बढती है और पाचन सकती भी मजबूत होती है।

इलायची

हर कोई इस बात को जनता है की इलायची का इस्तेमाल खाने में किया जाता है। लेकिन इलायची का पिस कर मिश्री के साथ लेने पर उल्टी में आराम मिलता है। इलायची से पाचन सकती भी मजबूत होती है और मुह की दुर्गंद को भी दूर करती है। अगर अपने जरुरत से ज्यादा मात्रा में खाना खा लिया है तो ऐसे में इलायची का सेवन करने से शरीर में होने वाली बैचेनी कम होती जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here