भीमा कोरेगांव हमले के ख़िलाफ़ महाराष्ट्र में तनाव बढ़ा

Bhima Koregaon

महाराष्ट्र में भीमा कोरेगांव के सनसवाडी में भीम अनुयायियों पर हुऐ हमले के निषेध में भीम सैनिकों ने महाराष्ट्र मैं बंद का ऐलान किया. महाराष्ट्र में बहुत जगह भीम अनुयायियों ने निषेध मोर्चे निकाले. कई जगहों पर दंगाईयों ने आपातकाल परिस्थिति निर्माण कि थी. कोरेगांव के सनसवाड़ी में दंगाइयों ने पत्थरबाजी कर गाड़ियों को आग लगा दी. इसका असर मुंबई में भी दिखाई दिया, मुंबई के चेंबूर स्टेशन पर 3 से 4 हजार भीम सैनिकों ने रेल रोको किया, साथ ही घाटकोपर से लेकर वाशीनाका तक और सुमननगर से डायमंड गार्डन तक के दोनो रास्तोपर रास्ता रोको किया सरकार के ख़िलाफ़ नारेबाजी कर अपना विरोध प्रदर्शित किया. ठाणे में भी रेल रोको किया गया.

Bhima Koregaon

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने अपील कि है कि कोई भी अफवाहों पर विश्वास ना करें, कोई भी अफवाएं ना फैलाएं अफवाएं फैलाने वालों के ऊपर सख्त से सख्त कार्रवाई होगी. सोशल मीडिया में गलत जानकारी देने वालों पर और हिंसा भड़काने वालों पर कठोर से कठोर कार्यवाही की जाएगी साथ ही हिंसा में जुलसे वाहनों को मदद देने की बात की और भीम सैनिकों को शांति बनाए रखने की अपील की महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इस घटना की जांच को हाईकोर्ट के जज से निष्पक्ष करने और हत्या की सीआईडी जांच करने के आदेश दे दिए हैं इसमें दोषी पाए जाने वालों के पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई होगी ऐसा आश्वासन दिया गया.

Bhima Koregaon

साथ ही ये दो समाजों में संघर्ष को बढ़ाने की साजिश है ऐसा भी कहां स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि हिंदुत्ववादी संगठनों ने कुछ दिन पहले चेतावनी दी थी. उसकी जांच होनी चाहिए ऐसा स्थानीयों का कहना है. शरद पवार ने इस घटना पर दुख व्यक्त किया है.

महाराष्ट्र में कई जगहों पर हिंसा भड़की है जिसमें मुंबई, पुणे, अहमदनगर, थाना, सोलापुर ऐसे कई जगहों पर हिंसा भड़की है. जिसमें कहीं सौ गाड़ियां जला दी गई. मुख्यमंत्री ने इस घटना में सुरक्षा बल कि 6 तुकडीयां , सी आर पी एफ और पोलीस बल तैनात किया है. और यात्रियों को सुखरूप तौर पर घर पहुंचाने की सुविधाएँ कि है,

Bhima Koregaon

इस घटना में भिडे गुरुजी और मिलिंद एकबोटे के ख़िलाफ़ दंगल भड़काना, और अट्रोसिटी के कलम 395, 307 के तहत पूना के पिम्परी पुलिस स्टेशन में फिर्याद. दर्जे कि है. आर पी आय के राष्ट्रीय नेता रामदास आठवले ने भी शांती बनाए रखने कि आपील कि और इस घटना को दोनो समाज के ख़िलाफ़ साजिश बताया. शरद पवार ने इस घटना पर दुख व्यक्त किया है. भारिप के डॉ. प्रकाश आंबेडकर ने पत्रकार परीषद में 3 तारीख को महाराष्ट्र बंद की घोषणा की है.

[स्रोत- धनवंत मस्तूद]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here