ब्लू व्हेल पर बैन को लेकर मामला पहुँचा सुप्रीम कोर्ट, 15 सितंबर को होगी सुनवाई

देश मे लगातार ब्लू व्हेल गेम से हो रही मौते के बढ़ते आंकड़े को देखते हुए तमिलनाडु मे रहने वाले एक शख्स ने इस गेम पर पाबंदी को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. Blue Whaleयाचिकाकर्ता ने देश की सबसे बड़ी अदालत मे मौतों की गंभीरता की गुहार लगाई है. पिछले दो महीनों से इस गेम ने दुनियाभर मे कई बच्चो को सुसाइड करने पर मजबूर किया है. पुलिस ने मरने वाले बच्चो के हाथो पर से ब्लू व्हेल गेम जैसी आकार की व्हेल बनी हुई देखी थी. जिस कारण इस गेम को बच्चों के सुसाइड की वजह माना जा रहा है.

[ये भी पढ़ें: बच्चों को ब्लू व्हेल गेम ना खेलने दे पेरेंट्स]

मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति डी.वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने याचिकाकर्ता की ओर से दाखिल की गई याचिका पर 15 सितंबर को सुनवाई के लिए सहमति जताई है. अपनी याचिका मे शख्स का कहना है कि केंद्र सरकार को ऑनलाइन गेम पर पाबंदी लगाने और इसके बारे में जनता को जागरूक करने का निर्देश दिए जाने का अनुरोध किया गया है.

[ये भी पढ़ें: ब्लू व्हेल ऐप: 50 दिन का गेम और करनी पड़ती हैं खुदकुशी]

आपको बता दें कि ब्लू व्हेल गेम की चपेट मे आकर के भारत के विभिन्न राज्यो से बच्चो की खुदकुशी करने के मामले सामने आए थे. पुलिस ने भी इस बात की पुष्टि की है कि सभी बच्चो की मौत का कारण ब्लू व्हेल गेम है. ऐसे में आपको भी काफी सतर्क रहना होगा कहि आपका बच्चा भी इस गेम को न खेलने लगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here