इस श्रीलंकाई बल्लेबाज ने कहा, धनंजय डी सिल्वा मैदान में रहते तो मैच में श्रीलंका की जीत होती

दिल्ली के फिरोजशाह कोटला में भारत और श्रीलंका के बीच टेस्ट सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच ड्रा रहा. 3 टेस्ट मैचों की सीरीज को भारतीय टीम ने 1-0 से जीती, मैच खत्म होने के बाद श्रीलंका के विकेट कीपर निरोशन डिकवेला ने चौंकाने वाला बयान दिया. निरोशन डिकवेला ने कहा अगर धनंजय डी सिल्वा अंत तक पिच पर टिके रहते तो श्रीलंकाई टीम इस मैच में जीत कर सकती थी.

Dhananjaya de Silva

धनंजय डी सिल्वा 119 रन बनाकर हुए थे रिटायर्ड हर्ट

टेस्ट मैच की चौथी पारी में बल्लेबाजी करना इतना आसान नहीं होता है, किन्तु श्रीलंका के युवा बल्लेबाज धनंजय डी सिल्वा ने 119 रन बनाकर यह साबित कर दिया यदि आदमी के हौसले बुलंद हो तो किसी भी परिस्थिति से लड़ सकता है. दिल्ली टेस्ट मैच को जीतने के लिए श्रीलंका के सामने 410 रन का लक्ष्य था. मैच के चौथे दिन का खेल खत्म होते-होते श्रीलंका ने 31 रन पर तीन विकेट गंवा दिए थे यहां से श्रीलंका की हार बिल्कुल साफ दिखाई दे रही थी.

परंतु पांचवें दिन धनंजय डी सिल्वा ने डटकर भारतीय गेंदबाजों का सामना किया और शानदार 119 रन बनाएं चोट लगने के कारण डी सिल्वा अच्छे से बल्लेबाजी नहीं कर पा रहे थे जिसकी वजह से उन्हें रिटायर्ड हर्ट होकर मैदान से बाहर जाना पड़ा और इस प्रकार श्रीलंकाई टीम मैच को ड्रा कराने में कामयाब रही.

मैच खत्म होने के बाद श्रीलंकाई विकेटकीपर निरोशन डिकवेला ने अपने बयान में कहा हम मैच को जीतने की योजना बना रहे थे, किन्तु धनंजय अंतिम समय तक बल्लेबाजी नहीं कर पाए जिसकी वजह से श्रीलंका की टीम मैच में जीत दर्ज नहीं कर पाई यदि धनंजय मैदान से बाहर नहीं जाते तो निश्चित ही श्रीलंका की टीम इस मैच को जीत जाती.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here