पागल की तरह हरकतें करने वाला निकला आतंकी, गणतंत्र दिवस पर अक्षरधाम में धमाके का था प्लान

रविवार को पुलिस ने मथुरा में निजामुद्दीन भोपाल ट्रेन से एक पागल की तरह हरकतें करने वाले शख्स को गिरफ्तार किया और पूछताछ करने पर वह एक आतंकी निकला. जिसके इरादे जानकर पुलिस दंग रह गई. पूछताछ करने पर पता चला कि वह और उसके कुछ साथी 26 जनवरी को दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर पर आतंकी हमले को अंजाम देने वाले थे. सूचना मिलते ही पुलिस ने जगह-जगह छापेमारी की और दिल्ली तथा आसपास के इलाकों में हाई अलर्ट जारी किया.on 26 january Akshardham target for tererist attackगणतंत्र दिवस के कारण दिल्ली और आसपास के इलाकों में हाई अलर्ट जारी है और इसी दौरान मथुरा में निजामुद्दीन भोपाल ट्रेन में एक संदिग्ध को पुलिस ने हिरासत में लिया है जो गणतंत्र दिवस पर अपने साथियों के साथ एक आतंकवादी गतिविधि को अंजाम देने वाला था.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जब टीटी ट्रेन के डिब्बे में चेकिंग के लिए पहुंचा तो उसे इस शख्स की हरकतें अजीब लगी जिसकी जानकारी टीटी ने जीआरपी को दी जीआरपी ने इस मामले की छानबीन की और पूर्ण जानकारी उत्तर प्रदेश के आतंकवादी विरोधी सेल को दी. यूपी एटीएस ने इस शख्स से पूछताछ की पहले तो इस शख्स की हरकतें एक पागल जैसी लग रही थी मगर जब मामले पर ज्यादा जोर दिया गया और पुलिस सख्ती से पेश आए तो इस शख्स ने कबूला कि वह 26 जनवरी को दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर पर आतंकी हमले को अंजाम देने वाला था उसमें यह अकेला शामिल नहीं है उसके कुछ दोस्त भी शामिल होने वाले थे.

[ये भी पढ़ें: फिर शहीद हुए 4 जवान, जम्मू कश्मीर के सोपोर में IED ब्लास्ट]

जांच में पता चला गिरफ्तार शख्स का नाम बिलाल अहमद वागय है जो कश्मीर के अनंतनाग का रहने वाला है उसने बताया कि वह और उसके दो कश्मीरी शादी 26 जनवरी के एक कार्यक्रम और अक्षरधाम मंदिर पर हमले की तैयारी कर रहे थे साथ ही उसने यह भी बताया कि उसके दोनों साथी जामा मस्जिद के पास के होटलों में ठहरे हुए हैं साथ ही यह भी बताया कि वह भी दिल्ली से निकलने से पहले उन होटलों में ठहर चुका है.

यूपी एटीएस ने इस की संपूर्ण जानकारी दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और आईबी को दी यूपी एटीएस से मिली इस सूचना के अनुसार दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल और यूपी एटीएस ने मिलकर जामा मस्जिद इलाके के दो होटलों जमजम रेस्टोरेंट और अल राशिद होटल में छापेमारी की. जांच में पता चला कि जिन दो संदिधों के नाम बिलाल ने बताए थे वे 2-3 दिन से अल राशिद होटल में रुके थे, लेकिन वे 6 जनवरी की सुबह 8:30 बजे ही चले गए.

पुलिस ने होटल के सीसीटीवी फुटेज को खंगाला और संदिग्ध के पहचान पत्रों को जप्त कर लिया है. हालांकि अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि यह लोग किसी आतंकवादी गतिविधि से जुड़े हैं और बिलाल के पास से कोई आपत्तिजनक सामान तथा हथियार भी बरामद नहीं हो पाया है मगर दिल्ली और कई राज्यों में हाई अलर्ट तथा तलाश कार्य और भी ज्यादा कर दिया गया है साथी कश्मीर पुलिस को भी इस बात की जानकारी दे दी गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here