बुराई पर अच्छाई की विजय होती ही होती है

प्रस्तुत पंक्तियों में कवियत्री दुनियाँ को यह समझाने की कोशिश कर रही है कि इतिहास गवाह है कि बुराई पर अच्छाई की जीत होती ही होती है लेकिन अच्छाई का मार्ग जितना पढ़ने में सरल लगता है उतना सरल अपनाने में नहीं होता। अच्छाई का मार्ग भले ही परीक्षाओ वा दुखो से घिरा होगा लेकिन सुकून भी वही मिलता है जहाँ बहुत जतन कर कुछ पाया हो। किसी भी सफल इंसान की ज़िन्दगी में झाँक के देखो कितना जतन कर किसी को सुकून मिलता है। याद रखना दोस्तों सफल इंसान की सफलता से न जल कर अगर तुम उसके परिश्रम पर ध्यान दोगे तो तुम भी सफल बन सकते हो क्योंकि ईश्वर ने हम सबको एक सा बनाया है किसी में कोई अंतर नहीं होता सब अनोखे है अलग है बस हमे अपनी क्षमताओं पर ध्यान देना चाहिये। तुम्हारे अलावा तुम्हे किसी ने मेहनत करने से नहीं रोका। वक़्त तो वही है या तो किसी से जलने में लगादो या दूसरे के संघर्षो से सीख अपनी दुनियाँ भी सजालो और जाना तो सभी को है एक दिन तो क्यों न कुछ अच्छा करके ही इस दुनियाँ से जाये।

बुराई पर अच्छाई की विजय होती है

अब आप इस कविता का आनंद ले।

बुराई पर अच्छाई की विजय होती ही होती है।
अच्छे को तड़पता देख, ईश्वर की आँखों में भी नमी होती है।
तो क्या हुआ, अगर अच्छाई की राह परीक्षाओं से घिरी है.
ठीक से चलने से पहले, हर आत्मा ही बहुत बार गिरी है।
अच्छाई का मार्ग देखने में जितना सरल लगता है।
सपनो की पूर्ति की राह में, इंसान दुख के अंधेरे में गिर भी सकता है।
हर परीक्षा को पास कर मिलती है सफलता।
उस राह की मंज़िल के बीच, न जाने ये मन कितना है मचलता।
उस मचलते मन को संभाल, हर वक़्त आगे बढ़ना है।
अपने दुखो से यारो, हर किसी को यहाँ, खुदही लड़ना है।
उस मार्ग पर चलने की कोशिश तो करो।
अपने दुखो को लेकर तुम पल-पल न मरो।
क्योंकि जाना तो हर हाल में ही है हम सबको।
तो क्यों न अच्छे कर्म की राह में,
खुश करदो तुम भी अपने रबको।

धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here