चूरू में सरेआम चलाई नीम के हरे पेड़ों पर कुल्हाड़ी

एक मिली खबर के अनुसार चूरू जिले के केंद्रीय विद्यालय के सामने नीम के हरे 50 पेड़ो को सरेआम काटे गया और ये पेड़ प्रशासन के सामने काटे गए है। अभी पेड़ काटने के कारणों का स्थाई पता नही लगा है, कोई इन्हे फॉर लाइन सड़क के लिए कटाई की गई है, ये बता रहा है। तो कोई निजी स्वार्थ।tree cutting in churuतो वही कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पेड़ काटने का जमकर विरोध किया है। कॉग्रेस कार्यकर्ताओ ने इस पर सड़क जाम कर भी विरोध जताया है। कॉंग्रेस कार्यकर्ताओ ने इसे निजी स्वार्थ बताया है। कॉग्रेस कार्यकर्ताओ ने प्रशासन पर मिलीभगत का आरोप भी लगाया है। उन्होंने कहा कि पेड़ आज लगवाने चाहिए, वही यहां तो पेड़ो को काट रहे है। ये पर्यावरण को नुकसान पहुचाने वाला कृत्य है। साथ ही दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है।मौके कोतवाली पुलिस पहुचकर समझाइश की एवम सड़क जाम खुलवाया। tree cutting in churuमौके पर मौजूद एक युवक सुनील कुमार दहिया ने कहा कि पेड़ काटना गलत था, और हमें हरे पेड़ काटने भी नही चाहिए थे। लेकिन फॉर लाइन सड़क का बनना भी तो चुरू के विकास के लिए ज़रूरी है। बिना अनुमति के पेड़ काटने वालो पर कार्यवाही होनी चाहिए, पर अगर ये फॉरलाइन रोड के लिए कटे है, तो फॉर लाइन सड़क भी बननी चाहिए। तथा सुनील ने इसका सुझाव देते हुए कहा कि, फॉर लाइन सड़क बनती है ,तो उसके डिवाड्रर मे पेड़ लगाये जाये, उसके किनारों पर पेड़ लगाए जाये तो सड़क भी बन जायेगी और पेड़ भी लग जायेगे।

[स्रोत- विनोद रुलानिया]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here