उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा घायलों को अस्पताल न पहुंचाने से हुई दो नाबालिगों की मौत

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में पुलिस द्वारा एक ऐसी अमानवीय घटना को अंजाम दिया गया जिससे पूरे देश में उत्तर प्रदेश पुलिस की एक बार फिर से किरकिरी हो गई. उत्तर प्रदेश पुलिस का ऐसा चेहरा पहली बार सामने आया जब पुलिस ने घायल दो नाबालिगों को अस्पताल पहुंचाने से इंकार कर दिया और युवकों ने सड़क पर ही तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिया इसका वीडियो सोशल मीडिया पर आग की तरह वायरल हुआ और पूरे देश में उत्तर प्रदेश पुलिस की थू-थू हो रही है.UP Policeजानकारी के अनुसार गुरुवार रात दो नाबालिग बाइक से जा रहे थे कि तभी रास्ते में बाइक अनियंत्रित होकर खंबे से जा टकराई और बाइक सवार दोनों युवक घायल होकर पास के नाले में जा गिरे. खंबे से टकराने पर हुई आवाज और चीख-पुकार के कारण आसपास के लोग वहां पहुंचे. उनमें से किसी ने इस घटना की जानकारी पुलिस को दी मौके पर पहुंची डायल 100 में मौजूद पुलिसकर्मियों ने घायल युवकों गाड़ी से अस्पताल पहुंचाने से इंकार कर दिया.

पुलिस वालों का कहना था कि अगर घायलों को गाड़ी से अस्पताल ले गए तो गाड़ी गंदी हो जाएगी और पूरी रात गंदी गाड़ी में कौन बैठेगा और पुलिस वालों ने घायलों को टेंपो से अस्पताल ले जाने की सलाह दी. घायलों तथा वहां मौजूद भीड़ के बार-बार आग्रह करने पर भी पुलिस वालों ने घायलों को बैन में बैठाने से मना कर दिया और किसी अन्य वाहन से अस्पताल ले जाने की सलाह दी.

पुलिसकर्मियों के इनकार करने के बाद भीड़ ने युवकों को अन्य वाहन से अस्पताल पहुंचाया मगर तब तक बहुत देर हो चुकी थी डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

इस पूरे मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर आग की तरह वायरल हुआ जिससे यूपी पुलिस की काफी फजीहत हो रही है एसपी सिटी प्रबल प्रताप ने कार्यवाही करते हुए डायल 100 पर तैनात तीनों पुलिसकर्मियों हेड कॉन्स्टेबल इंद्रपाल सिंह, कॉन्स्टेबल पंकज कुमार और कॉन्स्टेबल ड्राइवर मनोज कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here