यूपी बोर्ड एग्जाम: पहले दिन ही परीक्षा से नदारद रहे पौने दो लाख बच्चे

माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाएं मंगलवार से शुरू हो चुकी हैं और परीक्षा के लिए प्रदेश में 8500 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस साल 66 लाख विद्यार्थियों ने एग्जाम में अपना रजिस्ट्रेशन कराया मगर इनमें से 1.80 लाख विद्यार्थी परीक्षा के पहले दिन ही नदारद रहे यह सब सरकार द्वारा नकल के खिलाफ उठाए गए सख्त कदमों का नतीजा है.

यूपी बोर्ड एग्जाम

अगर पिछले साल के मुकाबले इस साल के आंकड़ों की बात करें इस बार 11 लाख अधिक विद्यार्थी परीक्षा दे रहे हैं उपमुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा के अनुसार इस बार एग्जाम के लिए किए गए रजिस्ट्रेशन की संख्या 66 लाख 37 हजार है और यह तो हम सभी जानते हैं कि माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश दुनिया का सबसे बड़ा बोर्ड है जिसमें पिछले साल 55 लाख विद्यार्थियों ने परीक्षा दी थी जिनके लिए 11415 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे मगर इस बार परीक्षा केंद्रों की संख्या 8549 हो गई है.

सरकार ने नकल के खिलाफ सख्त रुख अपनाते हुए परीक्षा केंद्रों में सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं तथा बिजली जाने की स्थिति में प्रकाश व्यवस्था के लिए भी जनरेटर का इंतजाम किया गया है सरकार द्वारा दावा किया जा रहा है कि इस बार के परीक्षा केंद्र नकल के लिहाज से ज्यादा संवेदनशील माने जा रहे हैं.

इस बार एक महीना चलेंगे एक बार

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस साल से पहले परीक्षाएं करीब ढाई महीने तक चलती थी मगर इस बार बोर्ड ने परीक्षा को एक महीना और 5 दिन में निपटाने का फैसला किया है जिसके अंतर्गत हाईस्कूल की परीक्षाएं होने से पहले खत्म हो जाएंगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here