कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए इन चीजों का करें इस्तेमाल और देखें असर

Cholesterol

कोलेस्ट्रॉल का नाम सुनते ही, बहुत से लोगों की टेंशन डबल हो जाती है. जी हाँ कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से सिर्फ हार्ट प्रॉब्लम ही नहीं बल्कि इसके अलावा कई बीमारियाँ भी होने लगती है. वैसे आपको बता दंज कोलेस्ट्रॉल के बारे में कुछ भी जानने से पहले यह पता करें की आखिर कोलेस्ट्रॉल है क्या चीज. कोलेस्ट्रॉल दो तरह होते है, एचडीएल (हाई डेंसिटी लिपोप्रोटीन, गुड कोलेस्ट्रॉल) और एलडीएल (लो डेंसिटी लिपोप्रोटीन, बैड कोलेस्ट्रॉ ल) एचडीएल यानी अच्छा कोलेस्ट्रॉल काफी हल्काल होता है और रक्तिवाहिनियों में जमे फैट को अपने साथ बहाकर ले जाता है. बता दें की बैड कोलेस्ट्रॉल का नाम सुनकर ही आपको पता लग गया होगा की यह कितना खतरनाक हो सकता है. जी हाँ यह एलडीएल चिपचिपा और गाढ़ा होता है.

जो हमारे शरीर की रक्त.वाहिनियों और धमनियों में जम जाता है. जिसके कारण हमारी नशों में रक्त सही तरीके से नहीं पहुच पता है. जिसके कारण हमे हाई ब्लड प्रेशर, हार्ट अटैक और मोटापे की परेशानी होने लगती है. अगर आपको लगता है की आपका कोलेस्ट्रॉल बढ़ रहा है तो आप कोलेस्ट्रॉल की जांच के लिए लिपिड प्रोफाइल नामक से रक्त में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा की जाँच सकते है. लेकिन इन सब बातों के अलावा आप कोलेस्ट्रॉल को कम करने के किन चीजों का इस्तेमाल कर सकतें आज हम आपको बताने जा रहें है.

लहसुन:

कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए सबसे ज्यादा प्रयोग लहसुन का ही किया जाता है, क्योंकि कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए यह सबसे सस्ता और आसान उपाय है. बता दें लहसुन में कई प्रकार के एंजाइम पाए जाते हैं जो एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है. आप रोज़ाना खाली पेट लहसुन की दो कलियों को एक गिलास पानी के साथ ले सकतें है. लेकिन इस बात का ध्यान हमेशा रखें की लहसुन का सेवन नियमित रूप से ही करें क्योंकि लहसुन की तासीर गर्म होती है. इसका ज्यादा इस्तेमाल कई बार आपके लिए नुकसानदायक भी साबित हो सकता है.

ऑलिव ऑयल:

ऑलिव ऑयल से त्वचा में ग्लो आता है, मोटापे को घटने में कारगर साबित होता है, बालों के फायदेमंद होता है. जी हाँ इन सभी फायदों के अलावा ऑलिव ऑयल में मोनो अनसैचुरेटेड फैट हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉंल के स्तर को एक जगह स्थित रखने में मदद करता है. इसके सबसे अहम बात यह है की यह ऑर्टरी की दीवारों को कमजोर नहीं पड़ने देता है. यही कारण है ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल करने यह दिल की बीमारियों से हमारा बचाव करता है. ऑलिव ऑयल हाई ब्ल ड प्रेशर और शुगर लेवल को भी कंट्रोल में रखता है. लेकिन हमेशा इस बात का ध्यान रखें की आपको अगर ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल करने से किसी भी प्रकार की एलर्जी की परेशानी हो रही है इसका सेवन तुरंत बंद कर दें. ऑलिव ऑयल के अलावा आप मार्किट से फ्लैक्सो सीड (अलसी) या राइस ब्रैन ऑयल का भी इस्तेमाल कर सकतें है.

[ये भी पढ़े : दिल की बीमारियों से बचना चाहते है तो इन आदतों को अपनाएं]

ड्राई फ्रूट्स:

ड्राई फ्रूट्स में कई प्रकार के फ्रूट्स आते है जैसे बादाम, अखरोट और पिस्ता. बता दें इन चीजों में फाइबर की मात्रा भरपूर मात्रा में होती है. इसके अलावा ड्राई फ्रूट्स के अंदर ओमेगा-3 और फैटी एसिड होने की वजह से यह बैड कोलेस्ट्रॉ ल की मात्रा को कम करने के बाद गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा कर हमारे दिल को स्वस्थ रखते है. बता दें ड्राई फ्रूट्स का सेवन करने से आपका मोटापा भी कम होता है क्योंकि ड्राई फ्रूट्स में मौजूद फाइबर देर तक पेट भरे होने का अहसास रहता है, ऐसे में खाने की इच्छा नहीं होती है और शरीर में एनर्जी लेवल भी कम नहीं होता है.

सोयाबीन और दालें का सेवन:

सोयाबीन और दालों में भी फाइबर की मात्रा काफी भरपूर होती है. यह भी हमारे शरीर से बैड कोलेस्ट्रॉल को शरीर से बाहर निकलने में मदद करती है. एक स्वस्थ आदमी को एक दिन में कम से कम 18 ग्राम के फाइबर की जरुरत होती है. इसके अलावा आप दालों को रात में पानी रखकर उन्हें सुबह सुबह स्प्राउट्स के तौर पर भी खा सकतें है. सोयाबीन का सेवन आप उबल कर कर सकतें है. इस दोनों चीजों का सेवन करने से शरीर के अंदर से बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा पांच फीसदी तक कम हो जाती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here