वोटिंग से फैसला फोगा गांव बना पूर्ण शराब बंदी वाला गांव

आज सरदारशहर की ग्राम पंचायत फोगा के गांव फोगा में प्रशासन द्वारा गांव में पृर्ण शराब मुक्त गांव के लिए वोटिंग करवाई गई। जिसमे 97% वोट गांव को शराब मुक्त करवाने के पक्ष में आये, जिसके चलते गांव फोगा बीकानेर संभाग का पहला ऐसा गांव बन गया जिसमें शराब पृर्ण रूप से बंद कर दी गई है।

वोटिंग से फैसला फोगा गांव बना पूर्ण शराब बंदी वाला गांव

ग्रामवासियो ने गांव को शराब मुक्त करवाने के पक्ष में अधिक मतदान किया जिसके फरस्वरूप 97% मतो की अधिकता के कारण प्रशासन ने गांव को शराब मुक्त बनाने की घोषणा कर दी। गांव को शराब मुक्त होने की घोषणा के बाद गांव में खुशियो की लहर दौड़ पड़ी एवम गांव वालों ने DJ बजाकर उसके गांनो पर नृत्य करके अपनी खुशि का इज़हार किया।

गाँव को शराब मुक्त करवाने में किनकी रही मुख्य भूमिका –

फोगा गांव को शराब मुक्त करवाने के लिए वैसे तो सभी ग्रामीणों ने वोटिंग करके गांव को शराब मुक्त करवाने का फेसला किया परंतु इस गांव को शराब मुक्त करवाने की अलख जगाने का श्रेय जन क्रांति मच की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूजा छाबड़ा, जन क्रांति मच के हरिसिंह बैनीवाल, सत्यनारायण झाझड़िया पिछले दो साल से जिले के विभिन्न गांवों को शराब मुक्त करवाने के लिए सगर्षशील है।

वोटिंग से फैसला फोगा गांव बना पूर्ण शराब बंदी वाला गांव

जिसके लिए इन्होंने कई गांवों में शराब मुक्ति के लिए रैली निकाली है। सभाएं की है। और आज उनके सघर्ष का नतीजा फोगा गांव के ग्रामवासियो के सहयोग से देखने को मिला और फोगा गांव शराब मुक्त हों गया।

[स्रोत- विनोद रुलानिया]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here