मां को बिना बिंदी और मंगलसूत्र के देख, कुलभूषण जाधव ने पूछा कि बाबा कैसे हैं: सुषमा स्वराज

पाकिस्तानी जेल में बंद भारतीय नागरिक  कुलभूषण जाधव से उनके परिवार ने हाल ही में मुलाकात की इस मुलाकात के बाद पूरे देश में पाकिस्तान के खिलाफ गुस्सा भरा हुआ है क्योंकि पाकिस्तानी जेल में कुलभूषण जाधव के परिवार के साथ जो बदसलूकी हुई वह कोई भी सहन नहीं कर पा रहा है इस संबंध में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज संसद में अपना बयान दिया राज्यसभा में अपने संबोधन में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि कुलभूषण जाधव की मुलाकात  के दौरान मां और पत्नी  क्या भाषण भी उतरवा दिए यह एक निंदनीय बात है.sushma swaraj and kulbhusan jadhav familyविदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि कुलभूषण जाधव के परिवार से मुलाकात रजनीश  कोशिशों द्वारा हुई है सरकार ने जाधव मामले को अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में पेश किया जिस कारण कुलभूषण जाधव के फांसी के फैसले पर रोक लग सके हालांकि इस मुश्किल घड़ी में परिवार के साथ पूरा देश खड़ा है और सरकार ने भी परिवार के सदस्य से यादव की मुलाकात की इच्छा को पूरा कराया है.


मगर मुलाकात के दौरान हुए दुर्व्यवहार के कारण पूरे देश में पाकिस्तान के खिलाफ गुस्सा भरा हुआ है मुलाकात के दौरान कुलभूषण जाधव की पत्नी और मां से आभूषण तक उतरवा दिए गए जब कुलभूषण जाधव ने मां को बिना मंगलसूत्र और बिंदी के देखा तो उनके मुंह से एक यही सवाल निकला कि बाबा कैसे हैं?  कुलभूषण जाधव को लगा कि उनके पिता के साथ कोई अनहोनी हो गई है. इतना ही नहीं पाकिस्तानी जेल में   मुलाकात के दौरान मीडिया को भी पास आने दिया गया जो हमारी शर्तों के खिलाफ था.

सुषमा स्वराज ने पाकिस्तानी सरकार पर अपना तंज कसते हुए कहा कि एयरपोर्ट पर कम से कम दो जगह परिवार वालों की चेकिंग हुई क्या तब उन्हें नहीं पता चला कि उनके पास कोई चीज या कोई अन्य पदार्थ है  फिर उनके जेल में कपड़े क्यों बदल पाए गए जब उनकी मां साड़ी पहनती है तो क्यों जबरदस्ती उन्हें सूट सलवार पहनाया गया.  इतना ही नहीं उन्होंने कुलभूषण जाधव की पत्नी की जूती भी नहीं दी पाकिस्तान जाधव की मां-पत्नी के जूतों के साथ कुछ शरारत कर सकता है. इस मीटिंग में सिर्फ मानवाधिकार के नियमों का उल्लंघन ही हुआ है.

मराठी में बात करने के दौरान बार बार ठोका

कपड़े बदलवाने और आभूषण उतरवाने के साथ-साथ पाकिस्तान ने एक और बेहूदगी वाली घटना की कुलभूषण जाधव की पत्नी और मां को मराठी में बात करना पसंद है मराठी में बात करने के दौरान उनको ठोक दिया जाता.  सुषमा स्वराज का कहना है कि इस मीटिंग में केवल मानवाधिकार के नियमों का उल्लंघन हुआ है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here