क्या है सौभाग्य योजना – जानिए इन 5 अहम बातों के जरिये

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समय हर संभव प्रयास कर रहे हैं देश के सवा सौ करोड़ लोगों को सरकार की अलग-अलग योजनाओं से लाभ देने का. सोमवार को प्रधानमंत्री मोदी ने ग्रामीण इलाकों व शहरी क्षेत्रों में घर-घर बिजली पहुंचाने के लिए सौभाग्य योजना की शुरुआत की.Saubhagya Yogna

सौभाग्य योजना की शुरुआत 25 सितंबर को पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर दिल्ली में की गई इस योजना का मतलब है “प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना” जिसके तहत भारत के हर गांव, हर शहर, हर घर तक बिजली पहुंचाने का लक्ष्य है और ये लक्ष्य प्रधानमंत्री 31 मार्च 2019 से पहले प्राप्त करना चाहते हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने सोमवार को दीनदयाल ऊर्जा भवन में शाम के लगभग 6:30 बजे के आसपास सौभाग्य योजना की शुरुआत की.

ये है सौभाग्य योजना की मुख्य बातें-

  • सभी घरों को आसानी से बिजली उपलब्ध होगी
  • मिट्टी के तेल का विकल्प अब बिजली होगी
  • शैक्षिक सेवाओं में सुधार होगा
  • स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार होगा
  • संचार के साधन बेहतर होंगे

केंद्र सरकार सौभाग्य योजना के अंतर्गत ‘रोशन होगा हर घर, गांव या शहर’ ये लक्ष्य 31 मार्च 2019 से पहले पूरा करना चाहती है, सौभाग्य-प्रधानमंत्री सहज बिजली योजना का बजट 16320 करोड़ रुपए है. इसमें से 12,320 करोड़ रुपए सरकार देगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here