युवराज सिंह ‘यो-यो’ टेस्ट में फिर से फेल, क्या अब संन्यास ही विकल्प है

भारत के धाकड़ बल्लेबाज युवराज सिंह भारतीय क्रिकेट टीम में वापसी के लिए क्या कुछ नहीं कर रहे हैं. युवराज सिंह अपनी पूरी कोशिश करें किसी तरीके से भारतीय क्रिकेट टीम में उन्हें जगह मिले. इसके लिए उन्होंने मंगलवार को एनसीए में जाकर ‘यो यो’ टेस्ट भी दिया. किन्तु युवराज सिंह एक बार फिर से इस ‘यो यो’ टेस्ट में फेल हो गए. जिस समय ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम का चयन किया जा रहा था तभी युवराज सिंह 1 बार ‘यो यो’ टेस्ट में फेल हुए थे.

Yuvraj Singh

क्या है ‘यो यो’ टेस्ट

‘यो यो’ टेस्ट एक फिटनेस लेवल को चेक करने के लिए किया जाता है. इस टेस्ट के मद्देनजर भारतीय टीम में वही खिलाड़ी रहेगा जो इस टेस्ट को पास करेगा इस टेस्ट के अंतर्गत जो खिलाड़ी इसमें पास नहीं होगा वह भारतीय क्रिकेट टीम में जगह नहीं बना पाएगा. क्योंकि इस समय टीम मैनेजमेंट और चयनकर्ता भारतीय क्रिकेट टीम की फिटनेस पर बहुत ज्यादा ध्यान दे रहे हैं.

मंगलवार को युवराज ने NCA में बेंगलुरु जाकर यो-यो टेस्ट कराया उनके साथ मिडिल ऑर्डर के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा और स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन ने भी टीम इंडिया में वापसी के लिए ‘यो यो’ टेस्ट कराया. किन्तु रविचंद्रन अश्विन और चेतेश्वर पुजारा ही इस टेस्ट में पास हो पाए युवराज सिंह 1 बार फिर से फेल हो गए अब न्यूजीलैंड के खिलाप भी उन्हें टीम में नहीं चुना जाएगा.

इस समय युवराज सिंह 35 साल के हो चुके हैं वह एक बार फिर से पूरी कोशिश कर रहे हैं कि किसी तरह भारतीय टीम में जगह मिले. उसके लिए मैदान पर काफी पसीना भी बहा रहे हैं किन्तु ‘यो-यो’ टेस्ट में फेल होने के बाद उन्हें किसी भी तरह टीम में चयन नहीं किया जाएगा अब सवाल यह उठता है कि क्या युवराज सिंह के पास सिर्फ एक ही विकल्प बचता है वो है संन्यास का?

जिस तरह 38 वर्षीय तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने 1 नवंबर को दिल्ली के फिरोजशाह कोटला में न्यूजीलैंड के खिलाफ टी-20 मैच खेलने के बाद T20 क्रिकेट से संन्यास लेने का ऐलान किया है क्या इस तरह की स्थिति अब युवराज सिंह के सामने आ चुकी है यह तो वक्त ही बताएगा फिलहाल युवराज सिंह वापसी के लिए कोई भी कसर बाकी नहीं छोड़ रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here